शाम को हो रहे कीड़े, कांटने से हो रहे त्वचा में फफोले

शाम को हो रहे कीड़े, कांटने से हो रहे त्वचा में फफोले

By: Sanket Shrivastava

Published: 17 Jun 2020, 10:02 PM IST

दमोह. पिछले कुछ दिनों से रात के वक्त कृत्रिम रोशनी में आकर्षित होने वाले कीड़ों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। शाम ढलते ही ये कीड़े कृत्रिम प्रकाश स्रोत बल्ब, ट्यूबलाइट, स्ट्रीट लाइट, मोमबत्ती, गाड़ी हेडलाइट आदि को आकर्षिक पहुंच जाते हैं और यहीं से इनका आतंक शुरू हो जाता है। इनका आकार एक चींटी से लेकर एक बड़े बराबर रहता है। इन कीड़ो को रात में जरा भी कृत्रिम प्रकाश दिखाए वहीं झुंड में मंडराने लगते हैं।
जिससे लोग परेशानी का सामना करते हैं। इन दिनों रात के समय रोशनी करना लोगों द्वारा मुश्किलों को चुनौती देने वाला साबित हो रहा है। शाम ढलने के साथ ही कीड़ों की संख्या बढऩे लगती है, जो रात में थोड़ी सी रोशनी में भी झुंड में नजर आती है। लोगों को इन कीड़ों को भगाने का एक ही उपाय यानी प्रकाश के सभी उपकरण बंद करना ही सूझ रहा है। यदि लोग रात में प्रकाश के उपकरण बंद करते हैं, तो कई काम रुक जाते हैं। वहीं जहां प्रकाश रहता है वहां कीड़ों का आतंक रहता है। ऐसे में लोग दोनों तरह से परेशान होते हैं। इन कीड़ो से सबसे ज्यादा खराब स्थिति दुकानों पर होती है, यहां रोशनी करने के कारण हजारों की संख्या में कीड़ों का आतंक होता है और यदि रोशनी बंद कर दी जाए तो दुकानदारी प्रभावित होती है। रात में रोशनी में आकर्षित होने वाले कीड़ों में से कई कीड़े ऐसे भी होते हैंए जो खतरनाक साबित हो रहे हैं। इनका शरीर से टच होना भी नुकसानदेह हो रहा है। यदि ये शरीर से रगड़ जाएं, तो उस स्थान पर लाल निशान बन जाता है। एक कीड़ा ऐसा भी है जिसके शरीर से टच होने पर आग से जलने जैसे फफोले हो जाते हैं। इस कीड़े को स्थानीय भाषा में लोग बिजली का कीड़ा कहते हैं।

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned