आखिर मैं क्यों बैठा हूं.. झूठा साबित निकला सांसद प्रहलाद का दावा !

मेडिकल कॉलेज खुलने का स्थान परिवर्तन

 

 

By: pushpendra tiwari

Published: 16 May 2018, 09:48 AM IST

दमोह. जिले में मेडीकल कॉलेज खोले जाने की की मांग उठने पर जहां सांसद प्रहलाद पटैल ने लोगों से कहा कि मेडिकल कॉलेज दमोह में ही खुलेगा आखिर मैं किस लिए बैठा हूं, प्रहलाद पटेल ने खुद को कद्दावर नेता की पहचान देते हुए कहा था कि भले ही जिला मुख्यालय से मेडिकल कॉलेज खुलने का स्थान परिवर्तन होकर हटा हो जाए लेकिन मेडिकल कहीं नहीं जाएगा दमोह जिले में आएगा। लेकिन अपनी बात रखने के दौरान लोगों को आश्वासन देकर मेडिकल कॉलेज दमोह में आने का दम भरने वाले सांसद प्रहलाद पटेल का दावा सतना में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की घोषण होने के बाद झूठा साबित हो गया है।

इसी तरह वित्तमंत्री जयंत मलैया द्वारा मेडिकल कॉलेज दमोह में लाए जाने के लिए प्रयासरत होने की बात लोगों तक पहुंचाई गई थी, उन्होंने अपनी बात लोगों तक पहुंचाने के दौरान बताया था कि वह दमोह जिले में मेडिकल कॉलेज की मांग पूरी कराने के वास्ते शिक्षा मंत्री जेपी नड्डा से मुलाकात करने दिल्ली जा रहे हैं, हालांकि उनकी मुलाकात नहीं हो पाना सामने आई थी, लेकिन मेडिकल कॉलेज दमोह जिले में लाने के लिए प्रयासरत होने का दावा वित्तमंत्री के द्वारा भी किया गया था, लेकिन अब इनके प्रयास भी नाकाफी होना साबित हो चुके हैं।


विश्वविद्यालय के बाद यह अवसर भी गया


सरकार के कद्दावर मंत्रियों के जिले में होने के बाद पहले भी विश्वविद्यालय का सपना जिलेवासियों का टूट चुका है और अब यह दूसरा अवसर है, जब जिले के हाथों तक मेडिकल कॉलेज की सौगात नहीं लग पाई है। विदित हो कि जिले में मेडिकल कॉलेज की मांग को लेकर आमजन में सभी वर्ग के लोग एकजुट से सामने आए थे, जहां शहर के व्यापारियों ने धनराशि दान की घोषणाएं की थीं, वहीं कुछ कृषकों ने मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए जमीन दान की घोषणा की थी। वहीं युवाओं ने एक मुहिम के रूप में सामने आकर विभिन्न तरह से आंदोलन किए थे।


सिद्धार्थ मलैया का दावा सही साबित


मेडिकल कॉलेज की मांग को लेकर शहर के टाऊन हॉल में व्यापारी संघ के द्वारा एक विशेष बैठक का आयोजन किया गया था, जिसमें सिद्धार्थ मलैया भी शामिल हुए थे। अपने उद्बोधन में सिद्धार्थ मलैया ने स्पष्टतौर पर कहा था कि मेडिकल कॉलेज सतना में खोले जाने के लिए मुख्यमंत्री द्वारा काफी पहले घोषण कर दी गई थी अब उसी घोषणा को अमलीजामा पहनाना बाकी है, लेकिन जब सिद्धार्थ मलैया ने यह बात कही तो बैठक में मौजूज लोगों को सच जानकर बुरा लगा था, लेकिन हकीकत आखिर सतना में मेडिकल कॉलेज पहुंचने से सामने आ चुकी है। उन्होंने अपने उद्बोधन के दौरान यह बात भी कही थी कि मैं भी चाहता हूं मेडिकल कॉलेज दमोह आए, लेकिन यह संभव हो यह इतना आसान नहीं है जितना सब सोच रहे हैं।


बताया गया है कि जून माह में मेडिकल कॉलेज सतना में खोले जाने के कार्य का शिलान्यास कार्यक्रम आयोजित है, कॉलेज निर्माण को लेकर डीपीआर तैयार की जा रही है। इस बात की पुष्टि सतना सांसद गणेश सिंह द्वारा की गई है।

pushpendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned