सूदखोरों से परेशान किसान का संदिग्ध परिस्थितियों में मिला शव, सूदखोरों पर लगाया हत्या का आरोप

देर रात वसूली करने आए थे सूदखोर

By: lamikant tiwari

Published: 27 May 2019, 11:02 PM IST

एंकर. सूदखोरों से परेशान एक किसान का शव संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ पर लगे फंदे से लटका मिला है। परिजनों ने हत्या का संदेह जताते हुए सूदखोरों पर हत्या कर फं दे पर लटका देने का आरोप लगाया है। हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है।
मामले में पुलिस ने बताया है कि देहात थाना अंतर्गत खजरी गांव निवासी टीकाराम राजगौंड़ पिता कोदू लाल राजगौंड़ (५५) का शव हिंडोरिया थाना क्षेत्र के नोनपानी गांव के जंगलों में पेड़ से लटका मिला है। मामले में मृतक का भाई रामसिंह राजगौंड़, बेटा उमाकांत राजगौंड़ व मूलचंद राजगौंड़ ने बताया कि टीकाराम किसानी करता है। जिसने कुछ सूदखोरों से रुपए उधार ले रखे थे। उसे खजरी गांव निवासी किसी बंटी नाम के व्यक्ति से करीब २० हजार रुपए उधार ले रखे थे। इसके अलावा भी अन्य कर्ज पहले से टीकाराम के ऊपर था। जिसे आए दिन सूदखोर परेशान करते थे। वह रविवार को अपने भतीजे की शादी में ससुराल खजरी गांव से नोनपानी थाना हिंडोरिया गया था। जहां पर उसे सूदखोर परेशान करने पहुंचे थे।
पहले खजरी फिर नोनपानी पहुंचे थे सूदखोर-
मृतक टीकाराम के परिजनों ने बताया कि सूदखोर रविवार रात खजरी गांव में उधार दिए रुपयों की वसूली करने गए थे। लेकिन टीकाराम नहीं मिला तो उन्होंने उसका पता पूछा जिसके बारे में परिवार वालों ने बताया कि वह शादी में नोनपानी गए हुए हैं। यह बात सुनकर आरोपी सूदखोर बंटी व दो अन्य लोग सीधे नोनपानी पहुंचे। जहां पर उन्होंने टीकाराम से बात की। बाद में फिर सूदखोर व टीकाराम लापता हो गए। कोई यह नहीं समझ पाया कि यह लोग आखिर गए कहां हैं। इसके बाद फिर सोमवार सुबह टीकाराम का शव घर से कुछ आगे नोनपानी के जंगलों में पेड़ से लटका मिला। जिसकी सूचना हिंडोरिया पुलिस को दी गई। बाद में पुलिस ने जांच की और फिर दमोह में शव ले जाकर शव परीक्षण कराने के बाद परिजनों के बयान दर्ज कर जांच में लिया है।
हिंडोरिया थाना प्रभारी विजय मिश्रा का कहना है कि वह मामले की जांच कर रहे हैं। बयानों व पीएम रिपोर्ट आने के बाद भी जांच करते हुए यदि कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

lamikant tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned