चार बच्चों की मौत के मामले में सामने आया ये दर्दनाक पहलू

चार बच्चों की मौत के मामले में सामने आया ये दर्दनाक पहलू

Laxmi Kant Tiwari | Updated: 12 Jun 2019, 01:22:41 PM (IST) Damoh, Damoh, Madhya Pradesh, India

तालाब में डूबने से चार बच्चों की दर्दनाक मौत,चार घंटे बाद पहुंची आपदा प्रबंधन की टीम

दमोह. पथरिया थाना के चिरौला गांव में बंसल परिवार के लोग बेटी की विदा करने में लगे थे, इसी बीच खबर आई कि नहाने गए परिवार के चार बच्चे तालाब में डूब गए हैं। बेटी को विदा कराते ही परिजन तालाब की ओर दौड़े और विदाई के आंसू करुण विलाप और महिलाओं द्वारा मातम से छाती पीटने से पूरा चिरौला गांव गम के आगोश में डूब गया। गांव के तैराक पहुंच कई घंटों के बाद एक-एक कर सभी बच्चों के शव निकाल लिए गए। बच्चों के डूबने की सूचना मिलने पर पथरिया थाना व जेरठ चौकी पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई थी। वहीं चार घंटे विलंब से दमोह से आपदा प्रबंधन की टीम पहुंची थी।


चिरौला गांव निवासी सुरेश बंसल ने बताया कि उनकी बेटी प्रीति की शादी थी। मंगलवार को सुबह करीब ९ बजे के लगभग बेटी की विदा कर रहे थे। इसी बीच उनके पास रिश्तेदारों के दो बच्चे दौड़ते हुए आए जिन्होंने बताया कि चार बच्चे तालाब में डूब गए। खबर सुनकर वह तुरंत ही अन्य परिजनों के साथ तालाब पहुंचे।

चार बच्चों की मौत के मामले में सामने आया ये दर्दनाक पहलू

एक दूसरे को बचाने में गई जान
मौके पर मौजूद बच्चे बाबू बंसल व अतुल बंसल ने बताया कि उनके साथ नहाने गए चारों बच्चों में से एक बच्चा गहराई में पहुंच गया था, जो डूबने लगा था। जिसे बचाने दूसरे ने प्रयास किया तो वह भी डूबने लगा, इसी तरह से एक के बाद एक चारों बच्चे तालाब की गहराई में समा गए।
दो लौट गए, चार बच्चे नहीं लौटे -
हटा के गांधी वार्ड निवासी राजू प्रसाद के दो बेटे संदीप (१८) व आशीष (१५) पहुंचे थे। इसके अलावा राजू के साड़ू भाई का बेटा क्रिश पिता संतोष कुमार (१४) निवासी चैनपुरा दमोह व चिरौला गांव में ही रहने वाले सचिन उर्फ सच्चू पिता भगवान दास बंसल (१२) अन्य गांव के दो बच्चों के साथ विदाई के दौरान नहाने गया था। लेकिन इन छह बच्चों में से संदीप, आशीष, क्रिश व सचिन की मौत हो गई।
जिला अस्पताल लाए शव -
सुबह करीब 9 बजे डूबे बच्चों का तलाशने का क्रम पुलिस व ग्रामीणों ने तुरंत ही शुरू कर दिया था। लेकिन दोपहर करीब 1 बजे आपदा प्रबंधन की टीम पहुंची तो ग्रामीणों ने काफी आक्रोश जताया। इस बीच निकाले गए चार बच्चों को 108 की मदद से जिला अस्पताल लाया गया। लेकिन डॉक्टरों ने चैक करने के बाद चारों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। जिनका पीएम कराने के बाद परिजनों के सुपुर्द किया गया। जबकि साथ में नहाने गए दो अन्य बच्चों में बाबू बंसल व अतुल बंसल ने तालाब के ऊपर से ही नहाया जिससे वह बच गए।

सड़क निर्माण के चलते खोदा था तालाब-
सरपंच खिलान पटैल ने बताया कि पूर्व में जब चिरौला के समीप सड़क का निर्माण कार्य किया गया था। उस दौरान खोदी गई मिट्टी के बाद तालाब का निर्माण हो गया था। जिसमें करीब २० से ३० फीट की गहराई हो गई थी। किनारे पर गहराई कम थी, लेकिन बीच में बहुत गहराई थी। इस पानी का पूरे गांव वाले उपयोग करते थे।
छा गया मातम
बेटी की विदाई के समय महिलाओं की आंखों से विदाई के आंसू निकल रहे थे। बेटी कार में बैठी ही थी कि बच्चे दौड़ते हुए आए और चार बच्चों के डूबने की दुखद खबर बताई। पुरुषों ने मौके की नजाकत भांपते हुए कार को आगे बढ़ा दिया। जिससे घटना से अनभिज्ञ बेटी अपनी ससुराल चली गई। इधर बेटी की विदाई के गम में गमगीन महिलाओं को जैसे ही चार बच्चों के डूबने की जानकारी लगी तो इन चार माताओं के करुण रुदन से पूरा गांव गमगीन होगया। रोते हुए छाती पीट रही महिलाओं और गम से व्याकुल होकर बेसुध हो रही महिलाओं को संभालने के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था। बेटी की विदाई के बाद चार अर्थियां बंसल परिवार से उठ रहीं थीं।

मर्ग कायम कर जांच शुरू-
पथरिया थाना प्रभारी राजेश मिश्रा ने बताया है कि बच्चों के शवों को बाहर निकालने के बाद दमोह में पीएम कराते हुए परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। मर्ग कायम कर मामले की जांच की जा रही है।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned