अवैध जंगलों की कटाई व बिजली गुल के मामला में 3 थाना प्रभारी व बिजली अधिकारी ने की सघन गश्त

सांगा व तारादेही के समीप अवैध रूप से की जा रही जंगलों की कटाई व बिजली गुल करने बनाए जा रहे फाल्ट की खबर के बाद शुक्रवार को पुलिस ने सघन गश्त की।

By: Sanket Shrivastava

Published: 19 Jan 2019, 08:09 AM IST

दमोह/तेंदूखेड़ा. सांगा व तारादेही के समीप अवैध रूप से की जा रही जंगलों की कटाई व बिजली गुल करने बनाए जा रहे फाल्ट की खबर के बाद शुक्रवार को पुलिस ने सघन गश्त की। एसडीओपी बीपी समाधिया के निर्देश पर तेंदूखेड़ा, तारादेही व तेजगढ़ के थाना प्रभारियों व पुलिस स्टॉफ के साथ बिजली कंपनी के अधिकारियों ने घटना स्थलों के आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचकर सघन जांच की। लेकिन शुक्रवार को कोई भी आरोपियों की शिनाख्त नहीं की जा सकी। जिन्होंने बिजली तारों में लगातार फाल्ट बनाए थे। खास बात यह है कि वन विभाग ने अवैध सागौन की कटाई होने के बाद भी सुध नहीं ली। और गश्त कहीं भी दिखाई नहीं दी। बताया गया है कि पिछले करीब दो माह से चल रहे बिजली के तारों पर फाल्ट बनाने का क्रम अभी भी शांत नहीं हुआ है। जिसकी मुख्य वजह अवैधरूप से सागौन की कटाई व जलाशयों से सिंचाई करने की बात सामने आई है। लेकिन पूरे मामले में अभी तक किसी को भी आरोपी नहीं बनाया जा सका है। पत्रिका ने सागौन के वृक्षों की अवैध कटाई व बिजली में बनाए जाने वाले फाल्ट को लेकर १८ जनवरी को खबर का प्रकाशन किया था। जिसमें 'फॉल्ट बनाए जाने से हो रही अघोषित बिजली कटौती, रोकने में संयुक्त उडऩदस्ता नाकाम शीर्षक से खबर प्रकाशित कर बताया था कि किस तरह से संयुक्त उडऩदस्ता आरोपियों को पकडऩे में नाकाम रहा है। खबर के बाद संयुक्त दस्ता ने सक्रियता दिखाई। लेकिन आरोपी हाथ नहीं लग सके।
एसडीओपी बीपी समाधिया का कहना है कि वह अज्ञात आरोपियों की जानकारी लेने में लगे हैं। जिनका पता लगते ही जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वन विभाग के साथ बिजली कंपनी को भी इस ओर ध्यान देना होगा।

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned