हासिया लेकर गुस्से में आई महिला ने कहा, खेत मे पांव रखा तो काट डालेंगे

विवाद के बीच हुआ पुलिस थाना भवन की भूमि का सीमांकन

By: pushpendra tiwari

Published: 19 Mar 2020, 11:55 AM IST

दमोह/ मडिय़ादो. कस्बे में पुलिस थाना का नया भवन स्वीकृत है। लेकिन भूमि का चयन नहीं होने के कारण लंंबे समय से निर्माण कार्य अटका हुआ है। जैसे-तैसे कलेक्टर के आदेश के बाद भूमि का चयन कर बुधवार राजस्व अमल पुलिस बल के साथ थाना के लिए आवंंटित भूमि का सीमांंकन करने मौका स्थल पर पहुंचा, तो वहांं भूमि पर काबिज लोगों आक्रोशित हो गए। कब्जाधारी परिवार द्वारा विवाद की स्थिति निर्मित की गई। यहां तक की मौके पर एक महिला आक्रोशित होकर हसिया लेकर पहुंच गई । महिला व अन्य परिजनों ने कब्जा हटाए जाने पर जमकर विरोध किया।

कार्रवाई के दौरान मौके पर पहुंची राजस्व विभाग की टीम में शामिल आरआई, पटवारी व डीएसपी आरएस नितिन बघेल, थाना प्रभारी बीपी दुबे व अन्य कर्मचारी मौजूद थे।
किसी भी कीमत पर नहीं दूंगी एक इंच जमीन
मौके पर पहुंची आक्रोशित महिला ने कहा कि जो दबंग है उनके कब्जे हटाने के लिए कोई नहीं जा रहा है। लेकिन मैं असहाय हूं, मेरा पति मानसिक रूप से विक्षिप्त है। मेरी दो बेटियां हैं। मैं एक इंच भी जमीन किसी भी कीमत पर नहीं दूंगी। मौके पर देखा गया कि महिला काफी गुस्से में थी और वह अमले के सामने हसिया लेकर आ गई व कर्मचारियों को मारने का प्रयास भी किया। गनीमत रही कि हसिया से किसी को भी चोट नहीं आ पाई। हालांकि इस घटना को लेकर किसी भी कर्मचारी द्वारा शिकायत दर्ज नहीं की गई है।
फिलहाल मडिय़ादो-हटा मार्ग पर चयनित भूमि पर विवाद के बीच राजस्व अमला पुलिस की मौजूदगी में सीमांकन का कार्य करता रहा। जिस भूमि को पर थाना भवन निर्माण होना है उस जगह को चिंहित कर दिया गया है।
बनेगी विवाद की स्थिति
जिस स्थान पर पुलिस थाना भवन को भूमि आंवटित की गई है, वहां विवाद होने के आसार अधिक है। क्योंकि बुधवार को सीमांकन के दौरान उक्त भूमि पर काबिज परिवार के हावभाव देखकर बड़ा विवाद होने की स्थिति बनी थी। हालांकि अभी कब्जाधारियों को मौके से बेदखल नहीं किया गया है। लेकिन जब बेदखली की नौबत आएगी तो कार्रवाई टीम को पहले से योजना बनानी पड़ेगी। क्योंकि वर्तमान परिस्थितियों के अनुसार हंगामा होने से इंकार नहीं किया जा सकता।
इनका कहना है
रकवा नं 94 में 984 नं की भूमि कलेक्टर के निर्देश पर पुलिस थाना के लिए आंवटित की गई है। जो भूमि दो हैक्टेयर है। इस भूमि का सीमांकन किया गया है। हालांकि अभी उस पर फसल लगी हुई है, फसल कटने के बाद कब्जा मुक्त कराया जाएगा।
जागेश्वर पटेल पटवारी, मडिय़ादो

pushpendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned