इस शहर में नहीं मिलेगी सरपट सड़कें, अनोखा हैं एमपी का यह शहर, पढ़ें पूरी खबर

Rajesh Kumar Pandey

Publish: Mar, 14 2018 12:11:42 PM (IST)

Damoh, Madhya Pradesh, India
इस शहर में नहीं मिलेगी सरपट सड़कें, अनोखा हैं एमपी का यह शहर, पढ़ें पूरी खबर

पाइप लाइन की खुदाई के बाद अस्वच्छता का बोलबाला, नालियों में भी भर गई मिट्टी व गिट्टी

दमोह. 1990 से लगातार अनियमित जलसप्लाई के कारण जलसंकट की त्रासदी भोग रहे नागरिकों को नियमित सप्लाई उपलब्ध कराने नपा के भागीरथी प्रयास जारी हैं। इन प्रयासों में वर्तमान में देखने में आ रहा है कि नगर पालिका के 39 वार्डों की गलियां मलबे के ढेर में तब्दील हो गई हैं। घरों के सामने खुदी पड़ी सड़क और लगा ढेर हर कहीं नजर आ रहा है। जिससे 15 मार्च को स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणाम का इंतजार कर रहा दमोह हर तरफ गंदा शहर के रूप में नजर आने लगा है।


दमोह शहर में जुझारघाट परियोजना के तहत काम चल रहा है। शहर के प्रत्येक वार्ड में पानी पहुंचाने के लिए 200 किमी लंबी पाइप लाइन बिछाई जानी है। अभी महज ७६ किमी लंबी पाइप लाइन डाली गई है। जिससे वार्डों में यह स्थिति बन गई है। चाहे हाइवे के किनारे हो या अंदरुनी गलियां सभी जगह सड़कें खुदी पड़ी हुई हैं।


बनाई गई नालियां भी जमींदोंज
नगर पालिका परिषद द्वारा हाल के एक दो वर्ष पहले ताबड़तोड़ वार्डों में सीसी रोड का निर्माण कराया था। इस दौरान कई वार्डों में नव निर्मित नालियां भी बनाई गईं थीं। शहर के मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में पाइप लाइन विस्तार के दौरान एक नाली पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है, जिससे मलबा और नाली टूटी होने से गंदा पानी सड़कों पर फैल रहा है, जिससे अस्वच्छता का माहौल बन रहा है। इसी तरह कई वार्डों की नालियों में मलबा भर गया है, जिनकी सफाई भी नहीं कराई जा रही है।
धीमी गति के कारण आ रही समास्या
पाइप लाइन विस्तार का कार्य धीमी गति से चल रहा है। होली के समय से मजदूर अपने घरों को गए थे, जिनके वापस न आने से अभी काम प्रभावित हो रहा है। वहीं कुछ ऐसी संकरी गलियां हैं, जहां खुदाई के बाद एक ओर मलबा पड़ा होने से लोगों को आवाजाही में परेशानी हो रही है। बच्चे गिर रहे हैं। नालियों की सफाई भी नहीं हो पा रही है।


घरेलू कनेक्शन के बाद सुधरेगी स्थिति
नगर पालिका परिषद जिन वार्डों व गलियों में पाइप लाइन बिछा दी है, वहां अभी क्षतिग्रस्त सड़कों व नालियों का पुर्न निर्माण नहीं हो पाएगा, क्योंकि घरेलू कनेक्शन देने के दौरान घर-घर के सामने एक बार फिर खुदाई होगी। जिससे नगर पालिका परिषद अब पूरे नल कनेक्शन होने के बाद ही सड़कों व नालियों का काया कल्प होगा।


कनेक्शन लेने की भी धीमी है रफ्तार
शहर में नगर पालिका द्वारा वार्ड स्तर पर कैंप लगाए जा रहे हैं, लोगों से एक हजार रुपए जमा कराए जा रहे हैं। जिसमें भी धीमी गति है, अभी तक ७० लोगों द्वारा ही कनेक्शन की राशि जमा कराई गई है। हालांकि पिछले 35 सालों का रिकार्ड देखा जाए तो शहर में 20 हजार लोग नल कनेक्शन लिए थे, जिनमें से वैध महज 2700 कनेक्शन ही वैध थे।


वार्डों में कनेक्शन होने के बाद ही नालियों व सड़कों का निर्माण कराया जाएगा। लोगों द्वारा जितनी जल्दी कनेक्शन लिए जाएंगे। उतनी जल्दी उन वार्डों में सड़क जीर्णोद्धार शुरू कराया जाएगा।
कपिल खरे, सीएमओ नपा

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned