सहयोग की अपील कर रहे एसडीएम को कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने दिखाई धौंस

सहयोग की अपील कर रहे एसडीएम को कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने दिखाई धौंस

pushpendra tiwari | Publish: Sep, 05 2018 12:41:56 PM (IST) Damoh, Madhya Pradesh, India

अधिकारियों को अन्य कांग्रेसी भी धमकाते आए नजर

दमोह. 'उटला चोर कोतवाल को डांटे, यह कहावत मंगलवार की दोपहर उस वक्त चरितार्थ हुई जब एसडीएम सहित अन्य प्रशासनिक अमला अवैध होर्डिंग्स हटाने की कार्रवाई कर रहा था और मौके पर पहुंचे कांग्रेस कमेटी पदाधिकारियों ने अधिकारियों को धौंस दिखानी शुरू कर दी। कांग्रेस पदाधिकारियों ने कार्रवाई करा रहे एसडीएम व अन्य अधिकारियों से कहा कि देखते हैं आखिर कौन उखाड़ता है इन होर्डिंग्स को। इसके अलावा करीब आधा घंटे तक अधिकारियों व कांग्रेसियों के बीच चली खींचतान के दौरान यह बात खुलकर सामने आ गई कि चुनाव से पहले ही नेताओं ने अधिकारियों के खिलाफ अपना मोर्चा खोल दिया है। आखिरकार प्रशासन को होर्डिंग्स हटाने की इस कार्रवाई में अपना एक कदम पीछे हटाने के लिए मजबूर होना पड़ा।


बुल्डोजर लेकर कार्रवाई करने पहुंचे अधिकारी


तहसील ग्राउंड के सामने दर्जनों अवैध रूप से खड़े होर्डिंग्स को हटाने के लिए एसडीएम रविंद्र चौकसे, नपा अधिकारी कपिल खरे, सीएसपी आलोक शर्मा सहित अन्य कर्मचारी मौके पर पहुंचे और कार्रवाई शुरु कराई। कार्रवाई के दौरान करीब एक दर्जन होर्डिंग्स को बुल्डोजर से गिरा दिया गया और नगरपालिका के कचरा वाहन ट्रैक्टर ट्राली में रखकर जब्त कर लिया गया। इसी बीच जिला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे गए और संचालित कार्रवाई को रोकने के लिए हर संभव हथकंडा अपना लिया।


एसडीएम को दी धमकी


मौके पर होर्डिंग्स हटाने की कार्रवाई करा रहे एसडीएम को धमकाने में कांग्रेस कमेटी जिलाध्यक्ष अजय टंडन ने जरा भी कसर नहीं छोड़ी। जिलाध्यक्ष ने टंडन ने अपना गुस्सा दिखाते हुए एसडीएम रविंद्र चौकसे से कहा कि मैं देखता हूं कौन उखाड़ता है होर्डिंग्स, उखाड़कर दिखाए अब कोई। मौके पर यह भी देखा गया कि जब जिलाध्यक्ष एसडीएम को धौंस दे रहे तो इसी बीच दमोह विधानसभा से उम्मीदवारी जताने की कतार में शामिल रत्नचंद्र जैन ने भी अधिकारियों पर अपना आक्रोश जाहिर किया। वहीं कांग्रेस के चौरसिया, दीपक मिश्रा भी अधिकारियों से उलझते देखे सुने गए।


एसडीएम ने कहा सहयोग करें विरोध नहीं


जिस समय कांग्रेसी अपनी धौंस अधिकारियों को दिखा रहे थे, तो इस दौरान एसडीएम चौकसे ने कांग्रेसियों से कहा कि आप लोग प्रशासन का सहयोग करें, कार्य में विरोध ना करें। वहीं एसडीएम ने कहा कि कार्रवाई तो होके रहेगी। जिस पर जिलाध्यक्ष ने होर्डिंग्स निकालने के लिए मौहलत मंगाई। यहां एक बात साफ हो गई कि शहर के भीतर सैकड़ों अवैध होर्डिंग्स प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ के आगमन के मौके पर कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों द्वारा सार्वजनिक स्थलो पर अवैध कब्जा कर होर्डिंग्स लगवाए गए थे।


दो दिन की मौहलत मिली


आयोजित हुई होर्डिंग्स हटाने की कार्रवाई में प्रशासन को एक कदम पीछे हटना पड़ा। कांग्रेस पदाधिकारियों द्वारा चाही गई मौहलत के बदले एसडीएम द्वारा दो दिन की मौहलत दी गई है। हालांकि एसडीएम ने कहा है कि शहर में चारों तरफ से होर्डिंग्स हटाए जाने हैं और यह निर्वाचन आयोग के आदेश हैं जिसके तहत हर हालत में कार्रवाई की जाएगी।


पढ़े किसने मौके पर क्या कहा


एसडीएम - इलेक्शन कमीशन के निर्देश हैं जिस पर कार्रवाई हो रही है
अजय टंडन- उखाडि़ए आप हम देखते हैं कौन उखाड़ता है, निकालिए कौन निकालता है, आइये निकालने
एसडीएम - हम निकलवा रहे हैं
अजय टंडन- हां तो ठीक है आइए उखाड़इये हम देखते हैं
रत्नचंद जैन- यह अतिक्रमण थोड़ी है, आपको क्या दिक्कत हो रही है, अभी नहीं हो रहा है चुनाव
संजय चौरसिया- नहीं निकाल पाओगे, नहीं निकाल पाओगे
एसडीएम - क्या करोगे
संजय चौरसिया - जो बनेगा वह करेंगे, रिस्पेक्ट से बात करो आप कमलनाथ जी ज्योतिरादित्य सिंधिया कोई छोटी चीज नहीं हैं।
अजय टंडन- मैं आपसे आखरी बार निवेदन कर रहा हूं मेरी बात सुनले
एसडीएम - हां
अजय टंडन- क्या है सर, कल तक हम लोग बहुत व्यस्त हैं
एसडीएम - हां तो आप लोग अपना काम करें होर्डिंग्स लगाने वाले निकालते रहेंगे, मैं एक दिन का और समय दे सकता हूं।
जो पहले पहुंचा उसने साध ली चुप्पी
इस मौके पर देखा गया कि सबसे पहले मौके पर पूर्व नपाध्यक्ष और कांग्रेस से चुनाव में प्रबल उम्मीदवारी कर रहे मनु मिश्रा पहुंचे थे। लेकिन जब कांग्रेस के अन्य पदाधिकारी मौके पर आ गए और मामला उलझता हूं नजर आने लगा तो मनु मिश्रा तत्काल ही पीछे हट गए और चुप्पी साधे रहे। बावजूद इसके होर्डिंग्स की कार्रवाई को रूकवाने के लिए पहले यही मौके पर पहुंचे थे।

Ad Block is Banned