दमोह. सिंधु महोत्सव मेला का आयोजन मंगलवार की रात 8 बजे स्थानीय झूलेलाल मंदिर में किया गया। इस मेला में मंचीय कार्यक्रमों ने ऐसा धमाल प्रस्तुत किया कि कई बार दर्शक दीर्घा में भी हुड़दंग मच गई। फिर क्या पुरुष क्या महिला सभी उल्लास से झूलने लगे।सिंधु महोत्सव मेला के मंचीय कार्यक्रम का प्रमुख आकर्षण जबलपुर से आए पुनीत रहे। जिन्होंने शिव स्वरूप व श्रीकृष्ण स्वरूप में होली खेली। इनकी नृत्य शैली इतनी बेजोड़ थी कि मंच से नीचे उतरकर दर्शक दीर्घा में बैठे महिला-पुरुषों के साथ भी होली खेलते हुए नजर आए। इस पूरे मेले का आयोजन सिंधु सेवा गु्रप द्वारा किया गया। यह मेला सिंधु संस्कृति पर आधारित था। इस कार्यक्रम में करीब 22 डांस हुए जिनमें 100 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में डांस, गु्रप डांस, रेंपवॉक, फैमली वैले, फैशन शो, नाटक जैसे रंगारंग कार्यक्रम हुए। व्यंजन मेला रहा खास इस मेले का मुख्य आकर्षण देशी, विदेशी व सिंधी व्यंजनों के स्टॉल रहे। जहां पर लगाई दुकानों में बाजार से आधे दामों में खाने-पीने की वस्तुएं परोसी गईं। जो अपने आप में सिंधी समाज को उल्लास के साथ यह संस्कृति दर्शा रही थी कि साल में एक ऐसा दिन है जिसमें सिंधी समाज को कोई बड़ा या छोटा नहीं है हर चीज हर व्यक्ति के बजट के अंदर उपलब्ध हो रही थी। अनवरत चल रहे हैं कार्यक्रम झूलेलाल जयंती के उपलक्ष्य में पूर्व कार्यक्रमों की श्रखंला चल रही है। 9 मार्च से कार्यक्रम झूलेलाल मंदिर में चल रहे है। मंगलवार को सिंधु महोत्सव मेला भी उसी कड़ी का कार्यक्रम था। 19 मार्च को झूलेलाल जयंती धूमधाम से मनाई जाएगी।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned