कुसमरिया पहुंचे अकेले, प्रताप के स्वागत में पहुंचे कांग्रेसी

हमसफर एक्सप्रेस दमोह रेलवे स्टेशन पर पहुंची

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 04 Apr 2019, 07:07 AM IST

दमोह. दमोह लोकसभा सीट को लेकर कांग्रेस में घमासान मचा हुआ है। इस सीट पर प्रबल दावेदार प्रताप सिंह लोधी व रामकृष्ण कुसमरिया माने जा रहे हैं। बुधवार को दोनों नेता दमोह पहुंचे। डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया अलग-थलग अकेले पहुंचे। वहीं प्रताप सिंह के स्वागत में कांग्रेसी रेलवे स्टेशन पहुंचे। पूर्व जबेरा विधायक प्रताप सिंह का जिस तरह से कांग्रेसियों द्वारा जोशों खरोश के साथ स्वागत किया जा रहा था, उससे अनुमान लगाया जा रहा था कि प्रताप सिंह लोधी कांग्रेस के प्रबलतम दावेदार है। प्रताप समर्थकों का दावा है कि कांग्रेस हाइकमान ने हरी झंडी दे दी है बस औपचारिक घोषणा होना बाकी है। गौरतलब है कि भाजपा छोड़ हाल में आए कुसमरिया का टिकट को लेकर मजबूत दावा था। कमलनाथ भी बाबा को लेकर पॉजीटिव नजर आ रहे थे। उधर हाइकमान केवल लोधी के मुकाबले लोधी को लड़ाने की युक्ति निकाल रही थी। जिसमें लोधी दावेदारों में प्रताप व डॉ. जया लोधी के बीच मंथन का दौर चल रहा था।
बुधवार की रात्रि 8 बजे जैसे ही हमसफर एक्सप्रेस दमोह रेलवे स्टेशन पर पहुंची और कोच से प्रताप सिंह बाहर निकले तो सैंकड़ों कांग्रेस प्रताप सिंह लोधी के पक्ष में नारेबाजी करते नजर आए। इस दौरान जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय टंडन, शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल सिंह ठाकुर सहित पूरे कांग्रेसी जोश के साथ स्वागत कर रहे थे। प्रताप सिंह के स्वागत को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा था कि इनकी टिकट पक्की हो गई है।
क्यों है प्रताप मजबूत चेहरा
कांग्रेस का प्रताप सिंह लोधी को मैदान में उतारने के पीछे का मुख्य मकसद यह है कि भाजपा प्रत्याशी प्रहलाद सिंह लोधी का राजनीति में हार्ड चेहरा माना जाता है, वहीं प्रताप सिंह राजनीति में शॉफ्ट माने जाते हैं। इसी मानदंड के आधार पर आरंभ से ही प्रताप का नाम आगे बढ़ाया जा रहा था।
कुसमरिया पहुंचे अकेले
बुधवार को डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया भी दमोह पहुंचे लेकिन उनके स्वागत में एक भी कांग्रेसी नहीं पहुंचा। वह अपने समर्थकों के साथ आए और कार से रवाना हो गए। जिससे अंदाजा लगाया जा रहा था कि उन्हें टिकट की मनाही हो गई है, हालांकि इनके समर्थकों की आस अब भी नहीं टूटी है। जिससे बाबा को भी आश्वासन मिलने की बात प्रचारित की जा रही है।

Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned