आस्था की राह में जोखिम, पुल पार करते समय रहता है जान को खतरा

आस्था की राह में जोखिम, पुल पार करते समय रहता है जान को खतरा

lamikant tiwari | Publish: Sep, 10 2018 03:12:22 PM (IST) Damoh, Madhya Pradesh, India

पचास रूपए में निकालते है बाइक

मडिय़ादो. रविवार आमावश्या के दिन Ÿृाद्धालू लमती नाले को उफान पर होने के बावजूद आवागमन करते देखने मिले। दरअसल यहां जंगली नाला पर एक पुल निर्माण किया जा रहा है। निर्माण के दौरान यहां बने पुराने पुल को तोड़ दिया गया जिस कारण बारिश में आवागमन खतरनांक साबित हो रहा है।
रविवार रोज नाला उफान पर था इसके बावजूद यहां से बाइक चालक और पैदल लोग निकल रहे थे। हालांकि इसके अलावा एक मार्ग और भी है। जिसमें दूरी बढ़़ जाती है। इसके बावजूद लोग जानजोखिम में डाल कर आवागमन कर रहे हंै। इन्हें रोकने वाला भी यहां कोई नहीं है। लगता है प्रशासन किसी अप्रिय घटना का इंतजार कर रहा है।
पचास रूपए में निकालते है बाइक -
रविवार नाला में तेज बहाव के कारण बाइक नहीं निकल पा रही थी। कुछ समीप के गांव के कुछ युवा बाईक निकालने के लिए यहां मौजूद थे। युवाओं के द्वारा बाईक को लकड़ी की बल्लियों से लटका कर इस पार से उस पार रखने का काम किया जा रहा था। बाइक पार करने के बदले युवाओं के द्वारा प्रति बाइक ५० रुपए लिया जाता है।
कुछ लोग अपनी दम पर ही बाइक पार करते देखने मिले। जिन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा। ऐसे में हादसे से भी इंकार नहीं किया जा सकता था। क्योंकि अगर बाइक फिसल गई तो चालक और बाइक दोनो को नुकसान हो सकता हैं।
भटक रहे मुसाफिर -
दरअसल मडिय़ादो से छतरपुर बिजावर पहुंचने के लिए यह मार्ग शार्ट कट है। शार्टकट के चक्कर में मुसाफिर इसी रूट से चल पड़ते हैं। बाहरी मुसाफिर जानकारी के अभाव में नाले में वाहन को फंसा देते हैं। इसके बाद उनकी परेशानी बढ़़ जाती है। लोगों का कहना है कि यदि प्रशासन द्वारा मडिय़ादो इमली तिराहा पर मार्ग बंद होने का सूचना पटल लगा दिया जाए तो बाहरी लोग भटकने और असुविधा से बच सकते हैं।
उक्त पुल निर्माण को लगभग दो करोड़ की लागत से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत निर्माण कराया जा रहा है। जिसे बारिश के कारण निर्माण कार्य बंद कर दिया गया है।

Ad Block is Banned