दुकानदारों ने मुख्य सड़क तक फैला दी दुकानें

मुख्य मार्ग पर रखी निर्माण सामग्री

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 10 Sep 2021, 09:37 PM IST

दमोह. तेंदूखेड़ा नगर के दुकानदार अपनी दुकान के बाहर मुख्य सड़क तक अतिक्रमण किए हैं, इसके बाद निर्माण सामग्री भी सड़क पर फैली हुई है। जिससे लगातार हादसे सामने आ रहे हैं।
नगर के मुख्य मार्गों पर भवन सामग्री, ईंट, रेत, गिट्टी, लोहा वाहनों के खड़े होने से हादसे घट रहे हैं। साथ ही नगर के मुख्य मार्ग पर दुकानदारों ने अपनी हद को पार कर दुकानों का सामान सड़क तक फैला दिया है। साथ ही दो पहिया वाहन चालक, चार पहिया वाहन चालक सहित बड़े वाहन भी मुख्य मार्ग पर सड़क के आजू-बाजू खड़े होने से आवागमन में काफी परेशानियां हो रही है। इस व्यवस्था को सुधारने में पुलिस भी कोई रुचि नहीं दिखा रही है। जिसके चलते मुख्य मार्ग पर वाहनों के खड़े होने व दुकानदारों की दुकान के सामान फैले होने से आवागमन प्रभावित हो रहा है।
मुख्य मार्गों पर रखी भवन निर्माण सामग्री नगर की चौड़ी सड़क पर मकानों की सामग्री का ग्रहण लगा हुआ है। लोग अपने मकानों की सामग्री डिवाइडर मार्ग पर रखे हुए हैं। जिसके कारण 50 फुट चौड़ा मार्ग लगभग 20 फुट का ही बचता है।
बड़ी दुर्घटना टल गई
शुक्रवार को ऐसी सामग्री के रखे होने के कारण एक बड़ी दुर्घटना होने से बची है। वहीं इस घटना का खामियाजा वार्ड क्रमांक 8 में रह रहे रहवासियों को भोगना पड़ा है। सुबह लगभग 6 बजे जबलपुर दमोह मार्ग पर एक ट्रक सड़क के बीच में लगे विद्युत मंडल के ट्रांसफार्मर मेंं लगे इंसुलेशन को तोड़ता हुआ आगे निकल गया। जिसके कारण ट्रांसफार्मर खराब तो हुआ ही एक बड़ी दुर्घटना होने से बच गई। हालांकि जब विद्युत मंडल के अधिकारी कर्मचारियों ने जाकर देखा तो सड़क मार्ग में जगह न होने के चलते ट्रक चालक ट्रक को डिवाइडर के बाजू से ले जा रहा था। इसी दौरान ट्रक ट्रांसफार्मर से टकरा गया। विद्युत अवरुद्ध हो गई। हालांकि इसमें ट्रक चालक की गलती इसलिए नहीं थी। इस मार्ग पर सड़क पर गिट्टी रेत रखी होने के कारण जगह नहीं थी।
सड़कों पर बैठते हैं मवेशी
नगर के मुख्य मार्ग पर शाम ढलते ही मवेशियों का भी जमावड़ा यातायात व्यवस्था को प्रभावित करता है। दुकानों के सामने बैठे मवेशी दुर्घटनाओं का शिकार तो होते ही हैं। साथ ही अनेक बार थोड़ी सी चूक के चलते दुर्घटनाएं घटित हो जाती हैं। नगर के पशुपालक अपने मवेशियों के प्रति लापरवाह दिखाई दे रहे हैं। केवल मवेशी पालकर कर अपना स्वार्थ सिद्ध कर रहे हैं। नगर के तहसील कार्यालय से एक्सीलेंस स्कूल तक व नगर से चौरई मार्ग तक अवस्था व्यवस्था के चलते लोग परेशान हैं।
50 फीट मार्ग बचता है 20 फीट का
नगर का मुख्य मार्ग लगभग 50 फीट चौड़ा है, जो सुबह होते ही काफी चौड़ा दिखाई देता है। धीरे-धीरे दुकानदारों वाहनों के अतिक्रमण किए जाने से यह मार्ग मात्र 10-10 फीट का ही नजर आता है। दोनों और लगभग 12-12 फीट पर वाहनों व दुकानदारों का कब्जा होने से राहगीर परेशान होते हैं।

 
Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned