साइड स्टाफ घर पर करता फाइलिंग

इन कार्यालयों में नहीं जुटती है, भीड़

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 28 May 2020, 06:06 AM IST

दमोह. कोरोना संक्रमण काल में वर्क फ्रॉम होम की बात चल पड़ी है। जिस पर अमल भी शुरू हो गया है, लेकिन निर्माण कार्यों से जुड़े दो विभाग ऐसे हैं, जिनका अधिकांश स्टाफ पहले से ही वर्क फ्रॉम होम के आधार पर फील्ड वर्क करता चला आ रहा है।
जलसंसाधन विभाग व पंचमनगर परियोजना का ऑफिस जो अब बीना स्थानांतरित हो गया है। इन दोनों विभागों में कार्यालयीन स्टाफ कम व साइड स्टाफ की ज्यादा संख्या है। यह दोनों विभाग जलाशयों, नदियों पर स्टापडैम से लेकर बड़ी सिंचाई परियोजनाओं पर वर्क कर रहा है। जिले में इस विभाग के अधीन बड़ी परियोजनाएं हैं, जिनमें पंचमनगर, सीतानगर, सतधरू व साजली परियोजनाएं शामिल हैं। इसके अलावा छोटे-छोटे स्टापडैमों पर भी वर्क चल रहा है।
कोरोना संक्रमण काल में पहले लॉकडाउन के दौरान इन कार्यालयों में भी सोशल डिस्टेंस के साथ 30 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम करने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन अब यह बाध्यता समाप्त हो चुकी है। जिससे इन कार्यालयों का लिपिकीय स्टाफ लगातार ऑफिस पहुंच रहा है। जिनके द्वारा सोशल डिस्टेंस का पालन किया जा रहा है। फाइलिंग व अन्य कागजी कार्य करते समय सुरक्षा का ख्याल रखा जा रहा है।
इस्टीमेट बनाते हैं घर में
इन दोनों विभाग से जुड़े इंजीनियर व एसडीओ अपने कार्यालय के बजाए अपने घरों पर ही काम करते हैं। इनके द्वारा काफी पहले से वर्क फ्रॉम होम पर फाइलिंग कार्य किया जाता है, इसके बाद वह साइड पर जाते हैं। कार्यालय से ज्यादा वास्ता न रहने के कारण इंजीनियरिंग स्टाफ अपनी सुविधा अनुसार घर पर ही काम करना पसंद करता है। यह प्रक्रिया सालों से जारी है। जिससे इन विभागों में वर्क फ्रॉम की गुंजाइश पहले से बनी चली आ रही है।
साइडों पर सुरक्षा के बीच कार्य
इन विभागों के निर्माण कार्य व बड़े प्रोजेक्ट में अधिक श्रम लगता है। कोरोना संक्रमण काल में पेयजल संबंधी कार्यों की अनुमति दी गई है, जिससे साइडों पर भी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा के उपाय करते हुए कार्य किया जा रहा है।

 
Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned