दमोह मॉडल स्टेशन पर गाडिय़ों की दरकार

पश्चिम मध्य रेलवे जोन में स्वच्छता में अव्वल

दमोह. मॉडल स्टेशन दमोह जो स्वच्छता की रैंकिंग में पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर जोन में अव्वल है। लेकिन यहां गाडिय़ों की कमी व कुछ गाडिय़ों के स्टापेज नहीं होने साथ ही कुंडलपुर-पन्ना रेल लाइन का कार्य शुरु नहीं होना क्षेत्र के लोगों को वर्षों से खल रहा है। इसके अलावा जिले के लोगों की वर्षों पुरानी प्रमुख मांग बीना-कटनी रेलखंड पर दमोह व सागर के यात्रियों के लिए दक्षिण व नागपुर के लिए ट्रेन शुरु कराए जाने की मांग भी पूरी नहीं हुई है। बताया गया है कि गाड़ी संख्या 13423/13424 भागलपुर.अजमेर ट्रेन, गाड़ी संख्या १2823/12824 छत्तीसगढ़ संपर्क क्रांति ट्रेन, गाड़ी सं. 11071/11072 कामायनी एक्सप्रेस का स्टापेज गणेशगंज स्टेशन, गाड़ी सं. 12181/12182 जबलपुर अजमेर.जबलपुर दयोदय सुपर फास्ट का पथरिया स्टेशन पर किए जाने के लिए मांग पूरा नहीं होना सामने आया है।
वहीं दूसरी तरफ स्टेशन पर यात्री सुविधाओं की बात की जाए तो इनमें शामिल स्टेशन प्लेटफार्म नंबर एक की ऊंचाई बढ़ाए जाने, प्लेट फार्म नंबर तीन पर यात्री टिकट घर बनाए जाने, वर्षों पुराने फुट ओवर ब्रिज के अलावा नए फुट ब्रिज का निर्माण सहित अन्य सुविधा संबंधी मांगों को पूरा नहीं किया जा सका है।
हाल ही में रेलवे स्टेशन के निरीक्षण करने पहुंचे डीआरएम जबलपुर ने लोगों की मांग पर कार्रवाई का आश्वासन दिया था। लेकिन करीब दो माह पहले हुए निरीक्षण में कीं गईं मांगे के नतीजे भी अब तक सिफर साबित हुए हैं। सांसद प्रतिनिधि आलोक गोस्वामी ने बताया कि दमोह से गुजरने वाली चार ट्रेनों के स्टॉपेज के अलावा प्रसिद्ध तीर्थ क्षेत्र बांदकपुर और पथरिया स्टेशन पर भी तीन ट्रेनों के स्टॉपेज की मांग उठाई गई है।
वर्षों पहले हो चुकी घोषण
प्राप्त जानकारी के अनुसार पन्ना-जबलपुर बाया कुंडलपुर रेलवे लाइन कार्य की घोषणा रेलवे बजट में भारत सरकार द्वारा वर्ष २००४ और २०११ के बजट में की जा चुकी है। लेकिन घोषणा होन के वर्षों बाद भी इस पर अमल नहीं किया गया है। जबकि कई मांग पत्र इस विषय को लेकर रेल मंत्रालय तक पहुंच चुके हैं। विदित हो कि पन्ना-जबलपुर बाया कुंडलपुर रेल लाइन शुरु होने से देश भर से जैन तीर्थ कुंडलपुर व बांदकपुर पहुंचने वाले यात्रियों के लिए सुविधा हो जाएगी साथ ही जिला समीपस्थ जिला पन्ना से रेल मार्ग से जुड़ जाएगा। इससे पन्ना, नयापुरा, अमानगंज, सिमरिया, गैसाबाद, हटा, बिलाई, कुंडलपुर, दमोह, नोहटाए, जबेरा, कटंगी के लोगों को लाभ मिलेगा।
पूर्व में हुई इस मांग पर सांसद प्रहलाद पटेल कह चुके हैं कि पन्ना-जबलपुर रेललाइन की अनुशंसा की गई। इसके लिए प्रयास किए जाएंगे।
यह कहते हैं दमोह रेल संघर्ष समिति के पदाधिकारी
दमोह रेल संघर्ष समिति के पदाधिकारी प्रांजल चौहान व सुरेंद्र छोटू दबे का कहना है कि बुंदेलखंड के लोग नागपुर जाने के लिए लोग जिस तरह से तकलीफें उठा रहे हैं उसका अहसास जनप्रतिनिधियों व रेल प्रशासन के अधिकारियों को नहीं है। दमोह से होकर निकले रेलवे ट्रेक का गुड्स के लिए इस्तेमाल होता है। तीसरी रेल लाइन का कार्य चल रहा है यह भी गुड्स के लिए हो रहा है। दमोह में दो गाडिय़ों के स्टापेज नहीं हो सके हैं। दुर्ग निजामुद्दीन छत्तीसगढ़ संपर्क क्रांति एक्सप्रेस व दुर्ग जम्मूतवी साप्ताहिक एक्सप्रेस यह दो ट्रेनें दमोह स्टेशन से निकलतीं हैं, लेकिन रुकती नहीं हैं। दमोह स्टेशन से रोजना करीब सात से आठ हजार यात्री यात्रा करते हैं। लेकिन इस बात का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। जबलपुर इंदौर इंटर सिटी एक्सप्रेस व हावड़ा भोपाल एक्सप्रेस इन प्रमुख ट्रेनों को बंद कर दिया गया है। यहां सुविधाओं के लिए रोजगार के लिए बुंदेलखंड के विकास के लिए रेल मेंटनेंस यार्ड खोला जा सकता है। लेकिन प्रयास नहीं होते है। पूर्व में कहा गया था कि दमोह से कुंडलपुर लिंक रेल लाइन शुरु की जाएगी। लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ। बीना-कटनी रेल खंड पर दमोह रेलवे स्टेशन का विस्तार जिस तरह होना चाहिए था वह विस्तार नहीं हुआ। आज भी ब्रांच लाइन की स्थिति बनी हुई है। स्टेशन पर स्थिति यह है कि आए दिन ट्रेन बंद कर दीं जाती हैं।

pushpendra tiwari
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned