रियलिटी लाने चाहत सीख रही हैं घरेलू जीवन का रंगमंच

बुंदेलखंड परिवेश में गोबर और छुई से ढिग लगाना भी एक कला

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 05 May 2020, 07:07 AM IST

दमोह. जीवन एक रंगमंच है, घर में किए जाने वाले कामकाजों को भी फिल्माया जाता है, एक्टिंग में निपुण हो चुकी दमोह की टीवी कलाकार चाहत पांडेय पिछले 22 मार्च से अपने घर पर लॉक डाउन हैं। लॉकडाउन में भी अपनी कला को निखारने के लिए अब बुंदेलखंडी परंपराओं, व्यंजनों को सीख रही हैं, वह ऑनालाइन राई नृत्य की प्रस्तुति भी दे चुकी हैं।
चाहत पांडेय का कहना है कि महामारी के दौर में हम सभी को घरों में बंद कर दिया है, लेकिन जो टीवी सीरियलों पर एक्टिंग होती है, वह लोगों के ईद-गिर्द व जीवन शैली से जुड़ी होती है। जिसमें वह शिद्दत हो चुकी हैं, लेकिन लॉकडाउन में घर आने पर उन्हें बुंदेलखंड की शैली ने रिझाया है। ठेठ बुंदेली परंपराओं, व्यंजनों व सांस्कृतिक विरासत को अब आत्मसात करने में जुटी हुई हैं, जिसका वह आगे उपयोग अपनी अदाकारी में कराना चाहेगी। उनका कहना है कि बुंदेलखंड के जीवन पर भी कई फिल्में बन चुकी है, जिसमें बुंदेली जन जीवन और शैली दिखाई जाती है, कभी उन्हें बुंदेली शैली का किरदार निभाना पड़े तो उसके लिए दक्ष हो रही है। बुंदेलखंड में पर्व पर घर के सामने सफेद रंग की छुई की ढिग लगाने की परंपरा है जो लगाना सीख लिया है। कैसे गोबर से लीपा जाता है, यह भी कर रही हैं। उन्होंने लॉक डाउन के दौरान बुंदेली राई की ऑनलाइन प्रस्तुति दी थी, अब वह अपने घरेलू जीवन की एक्टिंग का भरपूर आनंद ले रही हैं, अपनी मां से घरेलू व्यंजन बनाना भी सीख लिया है।
लॉक डाउन बढ़ रहा है, जिस पर वह अपनी कला को ऑनलाइन प्रस्तुति कर रही है, अभी उनकी नई प्लानिंग चल रही है, जिस पर वह जल्द ही एक नया विडियो जारी करेंगी। फिलहाल घरेलू जीवन का किरदार यानि गृहणि का असली किरदार निभाने के लिए पारंगत और निपुण हो रही हैं, यह किरदार निभाने में उनकी मां भावना पांडेय सहयोग कर रही हैं।

Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned