scriptThere is no AC facility even in the general wards of private hospitals | देश का पहला जिला अस्पताल जिसके जनरल वार्ड भी एसी | Patrika News

देश का पहला जिला अस्पताल जिसके जनरल वार्ड भी एसी

निजी अस्पतालों के जनरल वार्डों में भी नहीं है एसी की सुविधा

दमोह

Updated: April 21, 2022 09:12:10 pm

दमोह. नीति आयोग द्वारा देश के 112 पिछड़े जिलों के काया कल्प का बीड़ा उठाया गया था, अब उसके परिणाम भी सामने आने लगे हैं। दमोह जिला अस्पताल देश का ऐसा पहला सरकारी अस्पताल बन गया है जिसके सामान्य वार्ड भी एसी के कारण वातानुकूलित हो गए हैं। जबकि एसी की सुविधा निजी अस्पतालों के जनरल वार्डों में भी उपलब्ध नहीं है जहां लोगों को एक पलंग के प्रतिदिन 1500 रुपए से लेकर तीन हजार रुपए लगते हैं।
दमोह जिला अस्पताल 300 बिस्तरों का अस्पताल है, अब प्रत्येक पलंग पर सेंट्रल एसी से ठंडी हवा आ रही है। इस व्यवस्था के पीछे नीति आयोग द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं में किए जा रहे प्रयास शामिल है। दमोह जिला बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के मामलों में नीति आयोग की ग्रेडिंग में प्रथम स्थान पर आया था। यह पुरस्कार तीन साल पहले मिला था। तब तत्कालीन कलेक्टर नीरज सिंह थे, तब निर्णय लिया गया था जिला अस्पताल का प्रत्येक वार्ड एसी युक्त किया जाए, इसके बाद कोविड शुरू हो गया, जिससे सेंट्रल एसी लगाए जाने का कार्य धीमा पड़ गया था। वर्तमान में पूरा दमोह जिला अस्पताल वातानुकूलित हो गया है, जिसमें खास बात यह है कि यहां के जनरल वार्ड भी एसी युक्त हो गए हैं। देश के सरकारी जिला अस्पतालों के जनरल वार्डों में यह व्यवस्था नहीं है। साथ निजी अस्पतालों के जनरल वार्ड भी एसी युक्त नहीं है, वहां पर मरीजों के लिए कूलर की व्यवस्था की जाती है।
सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी ने बताया कि नीति आयोग द्वारा पुरस्कृत किए जाने के बाद अवार्ड के रूप में राशि दी गई थी, जिस राशि से पहले सेंट्रल कूलर लगाने पर विमर्श किया गया लेकिन बाद में निर्णय लिया गया कि कूलरों के रखरखाव उनके संधारण पर काफी खर्चा होने के साथ पानी भी लगता है, जिससे निर्णय लिया गया कि सेंट्रल एसी लगाया जाए और दमोह जिला अस्पताल को यह उपलब्धि मिल चुकी है। उन्होंने मरीजों व उनके अटेंडरों से आग्रह किया है कि इस सुविधा को सरकारी न समझते हुए अपने घर की सुविधा समझकर इसका उपयोग एहितयात से करें ताकि उनके जाने के बाद आने वाले नए मरीजों को इस सुविधा का लाभ मिलता रहे।
There is no AC facility even in the general wards of private hospitals.
There is no AC facility even in the general wards of private hospitals.
डीएएम 113
डीएएम 114
----------------

 

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...दिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंIPL 2022 RCB vs GT live Updates: गुजरात ने बेंगलुरु को दिया जीत के लिए 169 रनों का लक्ष्य6 साल की बच्ची बनी AIIMS की सबसे कम उम्र की ऑर्गन डोनर; 5 लोगों को दिया नया जीवनGyanvapi Masjid-Shringar Gauri Case: सुप्रीम कोर्ट में 20 मई और वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई को होगी सुनवाईपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.