अंडरब्रिज में भरा पानी, राहगीरों को हो रही परेशानी, पटरी पार करना मजबूरी

अंडरब्रिज में भरा पानी, राहगीरों को हो रही परेशानी, पटरी पार करना मजबूरी

By: Sanket Shrivastava

Published: 12 Jul 2020, 11:56 PM IST

दमोह/ बम्होरी माला. दमोह-कटनी रेल सेक्शन के रेल्वे स्टेशन घटेरा से कुछ ही दूरी पर रेल ट्रैक 1150/10 और 1152/12 के नीचे बने अंडर ब्रिज से निकलना राहगीरों के लिए मुसीबत बना हुआ है। दरअसल अंडर ब्रिज के भीतर काफी गहराई में बारिश का पानी भर गया है और अब लोगों को रेल लाइन पार करना मजबूरी बना हुआ है।
बता दें कि ग्रामीणों के आवागमन के लिए रेलवे फाटक को बंद कराकर विभाग के द्वारा करीब ०3 वर्ष पूर्व अंडरब्रिज का निर्माण कराया गया था।
अंडरब्रिज के निर्माण का मुख्य कारण रेलवे लाइन के दूसरी तरफ बसे गांव के लोगों को रेल लाइन पार न करनी पड़े और राहगीरों व वाहन चालकों को आने जाने में सुविधाओं का लाभ मिले।
क्योकि रेल लाइन के उस पार बसे मुहली, मडिय़ा, चदपुरा, गडिय़ा, कुसाई सहित अन्य गांवों के ग्रामीणो को घटेरा आकर बनवार की ओर जाने के लिए रेल पटरी पार करनी पड़ती थी।
यहां पहले रेलवे फाटक था जिसे बंद कर दिया गया और अंडर ब्रिज का निर्माण कराया गया था। लेकिन अंडरब्रिज के निर्माण मे लापरवाही बरती गई जिससे बारिश के दिनों में अंडर ब्रिज से निकलपाना संभव नहीं हो पा रहा है। बताया गया है कि अंडर ब्रिज में पानी निकासी के लिए सुधार कार्य कराए जाने प्रक्रिया लंबित है, लेकिन तीन सालों से यह प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है।
जानकारी के अनुसार निर्माण एजेंसी द्वारा अंडर ब्रिज निर्माण मे लगाए गए बक्से को व्यवस्थित तरीके से नहीं जमाया गया और न ही अंडर ब्रिज के अंदर व बाहर पानी निकासी के लिए नालियां बनाई गईं। इस वर्ष बारिश के करीब 15 दिन पूर्व रेलवे विभाग द्वारा समस्याओं को देखते हुए पानी निकासी के लिए अस्थाई तौर पर जेसीबी से करीब ०5 फुट गहरी नाली की खुदाई कराने का कार्य शुरू किया गया था।
लेकिन बारिश शुरू हो जाने की वजह से पिछले तीन दिनों से रेल विभाग द्वारा इस समस्या को देखते हुए नालियों के गहरीकरण का कार्य जेसीबी से कराया जा रहा है।

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned