कलेक्टर के नाम से रिश्वत मांगना पड़ा महंगा क्या है पूरा मामला देखें video

rakesh Palandi

Publish: May, 18 2019 08:24:16 PM (IST) | Updated: May, 18 2019 08:24:17 PM (IST)

Damoh, Damoh, Madhya Pradesh, India

दमोह. कलेक्टर के नाम से कलेक्ट्रेट में पदस्थ एक लिपिक द्वारा रिश्वत मांगने के आरोप में लिपिक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। आरोपी लिपिक के खिलाफ पीडि़त द्वारा शिकायत देने के बाद उसके खिलाफ जांच के निर्देश भी कलेक्टर ने दिए हैं। एडीएम आनंद कोपरिहा द्वारा मामले की जांच की जा रही है। शनिवार शाम करीब 6 बजे हुई इस कार्रवाई को लेकर आरोपी लिपिक के फोन नहीं उठाने पर उसकी तलाशी की जा रही है।
यह है पूरा मामला -
शनिवार शाम करीब छह बजे के लगभग एक पीडि़त महिला अपने पति के साथ कलेक्ट्रेट पहुंची। जिसके साथ एक भाजपा नेता भी कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। कलेक्टर को पीडि़त मीनू सोनी पति गोपाल सोनी निवासी पलंदी चौक ने बताया कि उसकी बेटी ऋषिका सोनी जो हार्निया के रोग से पीडि़त थी। जिसका करीब पांच माह पूर्व ऑपरेशन हुआ था। गरीब होने के कारण उन्होंने रेडक्रॉस अध्यक्ष कलेक्टर को एक आवेदन दिया था। जिसमें उसके नाम से 20 हजार रुपए की राशि स्वीकृत हुई थी। बाद में 15 मई को हितग्राही मीनू पति गोपाल सोनी को चेक क्रमांक 490 392 एसबीआई बैंक दमोह के माध्यम से 20 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी गई थी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned