पढ़ई तुंहर द्वार योजना में 8 हजार बच्चे बस्तर में कर रहे घर बैठे पढ़ाई, जनरल प्रमोशन के चलते हो रहा ये काम

जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा ने बताया कि बच्चों को मोबाइल के जरिए विभागीय वेबसाइट खुलवाकर पढ़ाई करा रहे हैं। इस वेबसाइट में बहुत सारे कंटेंट डले हुए हैं।

By: Badal Dewangan

Published: 16 May 2020, 03:48 PM IST

दंतेवाड़ा. लॉक डाउन के चलते घरों से नहीं निकलने की बाध्यता के चलते जिले में संचालित सकारी स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों की पढ़ाई घर बैठे ही कराई जा रही है। ऐसे 8 हजार बच्चों को मोबाइल के जरिए वर्चुअल क्लासेस को अटैंड करने का मौका मिल रहा है। हालांकि जिले में जिले में दूसरी कक्षा से 12 वीं तक कुल 42 हजार बच्चे अध्ययनरत हैं। लेकिन मोबाइल नेटवर्क कनेक्टिविटी की समस्या और सुविधाएं नहीं होने की वजह से सभी को इसका फायदा नहीं मिला पा रहा है। फिलहाल कक्षा पहले से दसवीं तक के बच्चों को ही इस तरह की पढ़ाई की सुविधा दी गई है।

ऐसे करा रहे पढ़ाई
जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा ने बताया कि बच्चों को मोबाइल के जरिए विभागीय वेबसाइट खुलवाकर पढ़ाई करा रहे हैं। इस वेबसाइट में बहुत सारे कंटेंट डले हुए हैं। इसके अलावा वाट्सअप ग्रूप बनाकर विषय शिक्षक अपने अपने विषयों की पढ़ाई करवा रहे हैं। इसे लिए मोबाइल में कंटेंट खुद तैयार कर डालते हैं। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि लॉक डाउन जारी रहने तक यह व्यवस्था रहेगी। स्कूल कब खुलेंगे यह अभी निश्चित नहीं है। लिहाजा छुट्टियों में बच्चों को अपडेट रखने के लिए यह व्यवस्था की गई है। सभी लोकल कक्षाओं में जनरल प्रमोशन देने की घोषणा की गई है। इसलिए बच्चों को अगली कक्षा की पढ़ाई करवा रहे हैं।

Show More
Badal Dewangan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned