स्मार्ट क्लास में राष्ट्रपाति को तीन मिनट तक पढ़ाएंगी माओवाद हिंसा पीडि़त छात्रा संध्या

मांई दंतेश्वरी की पावन धरा पर बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उनकी पत्नी सविता कोविंद आ रही है।

By: Badal Dewangan

Updated: 24 Jul 2018, 01:44 PM IST

दंतेवाड़ा. मांई दंतेश्वरी की पावन धरा पर बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उनकी पत्नी सविता कोविंद आ रही है। समन्वित कृषि प्रणाली मॉडल के अवलोकन के दौरान देश के प्रथम नागरिक दंपत्ति आदिवासी युवति चंपा की ई रिक्शा की सवारी करेंगे। इस रिक्शे पर सवार हो कर वे किसानों के लिए तैयार किए गए मॉडल को देखेगें।

वही सीएम डॉ. रमन सिंह सविता के ई-रिक्शे पर सवार होगें। मॉडल के अवलोकन के दौरान उनको तीखुर की बर्फी, रागी के लड्डू और नारियल पानी पिलाया जाएगा। राष्ट्रपति को यह स्वल्पाहार संगीता और वसंती कराएगी। इधर आस्था विद्यामंदिर में स्मार्ट क्लास में कक्षा आठवीं की छात्रा संध्या राष्ट्रपति को तीन मिनट पढ़ाएंगी। आस्था विद्या मंदिर में बच्चे अपने मन में उपजे सवालों को भी पूछेगें। बताया जा रहा है इसके लिए बच्चों को पूरी तैयारी करवा दी गई है। राष्ट्रपति कोविंद का बच्चों के साथ फोटो सेशन भी रखा गया है। इस स्कूल में वे पंद्रह मिनट रुकेंगे।

चालीस किलोमीटर का इलाका छावनी में होगा तब्दील
बारसूर से दंतेवाड़ा तक हर कदम पर जवानों का पहरा होगा। सुरक्षा की जिम्मेदारी आईजी हिमांशु गुप्ता और पीएचक्यू से आए दो डीआईजी पर है। 40 किलोमीटर का इलाका छावनी में तब्दील होगा। पांच हजार से अधिक जवानों की तैनाती होगी। छग के सभी जिलों से फोर्स दंतेवाड़ा में पहुंच चुकी है। इन जवानों की तैनाती के साथ आसमां से ड्रोन भी निगरानी करेगें। आईजी हिमांशु गुप्ता ने हीरानार कड़कनाथ हब में मौजूद जवानों को सुरक्षा के विषय में कड़े दिशा निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा जारा सी भी चूक हुई तो खुद को सस्पेंड मान लेना। आईजी हिमांशु गुप्ता को सुरक्षा का नोडल अधिकारी बनाया गया है। इधर तैयारियों का जायजा लेने सुबह प्रभारी मंत्री केदार कश्यप भी पहुंचे थे। उन्होंने अधिकारियों का साफ निर्देश दिए है कि की कोई खामी नहीं रहनी चाहिए। इस दौरान आमजनों को तकलीफ हो सकती है।

स्वागत-सत्कार होगा बस्तरिया अंदाज में
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का स्वागत बस्तरिया अंदाज में किया जाएगा। हीरानार कड़कनाथ हब में स्वागत करने के लिए कमलानाग,बुटकी कश्यप, राधा काश्यप और सुंदरी कश्यप को जिम्मेदारी सौंपी गई है। स्वागत करने वाली युवतियां बस्तरिया लिबासें रहेगी। वही हीरानार के शिशु विद्या मंदिर में 10 छात्र-छात्राओं को भोजन कराने की जिम्मेदारी होगी। छात्र धोती कुर्ता में नजर आएगें।

मां दंतेश्वरी का भी करेंगे कोविंद दंपति
इस प्रवास के दौरान मां दंतेश्वरी के दर्शन के कार्यक्रम को जोड़ा गया है। पहले मां के दर्शन का कोई उल्लेख नहीं था। इसके लिए हीरानार वृद्धा आश्रम और घोटपाल जाना केंसिल कर दिया गया है। वृद्धा आश्रम में उनको वृद्ध माताओं से मिलना था। घोटपाल में स्वास्थ्य के क्षेत्र में हुए काम को देखना था। सूत्र बता रहे हैं कि इन दोनों जगह के अवलोकन को रद्द कर मां दंतेश्वरी के दर्शन के कार्यक्रम को जोड़ा गया है।

राष्ट्रपति के दंतेवाड़ा प्रवास के दौरान का शेड्यूल
गुरुवार को हैलीपड ये वे सीधे हीरानार समन्वित कृषि प्रणाली मॉडल के लिए रवाना होगें। इसके बाद हीरानार शिशु मंदिर में लंच करेगें। यहां बस्तर का फुटू सब्जी चखेंगें। भोजन में बदशाह भोग चावल की खीर, पंच दाल, अरहर दाल, परवल, बरबट्टी आलू के साथ लोक्टी मांछी चावल और चपाती होगी। फलों में सेव और पपीता का सेवन करेंगे। इस कार्यक्रम के बाद वे मांई दंतेश्वरी माता के दर्शन करने पहुंचेगे। मां के दर्शन और पूजा अर्चना कर सर्किट हाउस में एक घंटे विश्राम लेंगे। यहां से गीदम सक्षम में दिव्यांग बच्चों से मिलेगें। आस्था विद्यामंदिर में नक्सल हिसां पीडि़त बच्चों से मिलेगें। यहां बच्चे उनसे सवाल पूंछेगे और स्मार्ट क्लास में संध्या से तीन मिनट पढ़ेगें भी। वीपीओ कॉल सेंटर जाएगें और इसके बाद वे रवाना होगें। हालांकि अभी तक उनकी समय सारणी को प्रशासन ने उजागर नहीं किया है।

Show More
Badal Dewangan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned