नक्सलियों ने आगजनी के बाद फेंके पर्चे, पेड़ पर बंधे बैनर में जिक्र है चौकाने वाली बातें...

आकाशनगर के गली नाला में माओवादी उत्पात, एनएमडीसी के पंप हाउस में लगाई आग, इलेक्ट्रिक केबल पूरी तरह क्षतिग्रस्त, सुधार में जुटे कर्मी।

By: Eshwar Prashad Panigrahi

Published: 16 May 2018, 02:07 PM IST

दंतेवाड़ा/बचेली. महाराष्ट्र गढ़चिरौली वारदात के बाद माओवादी बुरी तरह से बौखलाए हुए हैं। दक्षिण बस्तर में जमकर उपद्रव कर रहे हैं। सोमवार और मंगलवार दोनों दिन आगजनी- फायरिंग जैसी वारदातों को अंजाम दिया। बचेली के गली नाला के पास एनएमडीसी के पंपहाउस में आग लगा दी। यहां माओवादियों ने कार्ल माक्र्स की 200 वी जयंती के पेर्च फेंके है और बैनर बांधा है।

पर्चे में दीर्घकालीन जनयुद्ध का भी है जिक्र
इन पर्चे में लिखा है कि महान शिक्षक के विचारों को अपनाया जाए। दीर्घकालीन जनयुद्ध की बात लिखी है। पर्चे के मुताबिक कार्ल माक्र्स की 200वीं जयंती मनाने कहा है। कोतवाली थाना क्षेत्र के कुपेर, कामालूर व पंडेवार में उत्पात मचाने के बाद माओवादियों ने मंगलवार की सुबह बचेली थाना क्षेत्र के पंप हाउस में आग लगाई।

गांव में सभा कर निकाली जाएगी विरोध रैली
आकाशनगर के गली नाला स्थित पंप हाउस में सुबह एक दर्जन से अधिक माओवादी पहुंचे और जनरेटर सहित मौजूद अन्य उपकरणों को आग के हवाले कर दिया। वहां बैनर भी बांधा है। बैनर- पोस्टर में लिखा है कि महान शिक्षक कार्ल माक्र्स का 200वां जन्म दिवस उल्लास के साथ मनाने कहा है। गांव- गांव में रैली, सभा कर साम्राज्यवाद कार्पोरेट घराने का विरोध करने अपील की जाएगी।

आधे घंटे तक मचाते रहे उत्पात
आग लगने की सूचना पर फोर्स के साथ एनएमडीसी के कर्मचारी भी मौके पर पहुंचे। पंप हाउस में आसपास की लक ड़ी- पत्ता एकत्र कर उसमें आग लगा दी गई थी। बताया जा रहा है कि वहां करीब आधे घंटे तक माओवादी मौजूद रहे। पंप हाउस का इलेक्ट्रीक केबल पूरी तरह जलकर नष्ट हो गया है। अब एनएमडीसी के कर्मचारी उसे बदलने के काम जुटे हैं।

माओवादी करतूत
&गलीनाला स्थित पंप हाउस में कचरा एकत्र कर माओवादियों ने आग लगाई है। केवल इलेक्ट्रीक केबल जला। मौके से माओवादी पाम्पलेट- बैनर भी बरामद हुए हैं।
धीरेंद्र पटेल, एसडीओपी, किरंदुल

Eshwar Prashad Panigrahi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned