दंतेवाड़ा पुलिस ने तैयार की नक्सलियों की हाईटेक कुंडली, प्लानिंग कर देगा आपको हैरान

- नई रणनीति: कंप्यूटर पर बना नक्सलियों का कैडर ट्री, 266 पेज की प्रोफाइल जनप्रतिनिधियों को करेंगे शेयर।
- छोटे से लेकर शीर्ष कैडर तक की जानकारी जुटाई, इसके जरिए सरेंडर करवाने के लिए बनाएंगे दबाव।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 27 Jun 2020, 06:23 PM IST

दंतेवाड़ा। नक्सल मोर्चे पर चौतरफा दबाव बनाने के लिए दंतेवाड़ा पुलिस ने नक्सलियों की हाईटेक कुंडली यानी प्रोफाइल तैयार की है। हाल ही में गिरफ्तार और सरेंडर हुए नक्सलियों से पूछताछ के आधार पर यह प्रोफाइल बनाई गई है। इसमें दंतेवाड़ा जिले में सक्रिय नक्सलियों के निचले कैडर से लेकर शीर्ष कैडर तक की जानकारी कैडर ट्री के तौर पर अंकित की गई है।

इसमें संगठन के शीर्ष पदधारियों के नाम के अलावा उनके अधीन काम करने वाले कैडर का जिक्र है। इसके अलावा पड़ोसी जिलों में सक्रिय सभी नक्सलियों के प्रचलित नाम, असली नाम, संगठन में पद, उनके द्वारा धारित हथियार, उन पर घोषित इनाम, कार्य क्षेत्र, मूल निवास की जगह की जानकारी भी प्रोफाइल में शामिल की गई है। दंतेवाड़ा एसपी डॉ अभिषेक पल्लव के मुताबिक सरेंडर और गिरफ्तार नक्सलियों से पूछताछ के आधार पर डिटेल्ड प्रोफाइल बनाकर जारी किए गए हैं, ताकि एंटी नक्सल ऑपरेशन में पारदर्शिता लाई जा सके। इसकी एक- एक कॉपी जन प्रतिनिधियों को भी मुहैया कराई जाएगी, ताकि वे नक्सलियों को सरेंडर कर पुनर्वास पैकेज का लाभ उठाने के लिए प्रेरित कर सकें।

पहली बार नक्सलियों संगठन की वर्गीकृत जानकारी
इस प्रोफाइल में स्पेशल जोनल कमेटी, डिवीजनल कमेटी, टेलर टीम, मेडिकल टीम, पंचायत कमेटी, डिवीजन एक्शन टीम, डिवीजन कम्युनिकेशन टीम, रिपेरिंग टीम, सीएनएम पार्टी, प्रेस टीम, डीवीसी सुरक्षा दलम, डीवीसी स्टाफ, डिवीजन कमेटी, डीएकेएमएस, जनताना सरकार, डिवीजनल कमेटियां, जनताना सरकार, सप्लाई टीम, मिलिशिया, बाल संगठन के सदस्यों की जानकारी फीड की गई है।

ये जानकारियां भी
मिलिट्री प्लाटून के गठन वर्ष, इसके अधीन कंपनी, उपलब्ध अस्त्र- शस्त्र, संचार के उपकरण, ट्रेनिंग के तौर तरीकों, आश्रय स्थल, एम्बुश प्वाइंट, पासिंग प्वाइंट की जानकारी भी मुहैया कराई गई है।

होर्डिंग्स भी लगवाए
नक्सलियों को सरेंडर करवाने के लिए एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने कुछ माह पहले बड़े गुडरा इलाके में एक नक्सली के घर पहुंचकर उसके परिजन से मुलाकात की और सरेंडर करवाने की अपील की थी। इसके बाद हाल ही में उन्होंने कटेकल्याण इलाके में सक्रिय कुछ स्थानीय नक्सलियों के नाम व पते की जानकारी वाला होर्डिंग भी लगवाया है।

शैलेंद्र ठाकुर की रिपोर्ट

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned