Blue Whale ! किसी ने ब्लेड से काटा है हाथ तो किसी ने पिन से उकेरा है यह निशान, जारी है हाई वोल्टेज ड्रामा

ajay shrivastav

Publish: Sep, 16 2017 11:08:12 (IST)

Dantewada, Chhattisgarh, India
Blue Whale ! किसी ने ब्लेड से काटा है हाथ तो किसी ने पिन से उकेरा है यह निशान, जारी है हाई वोल्टेज ड्रामा

दो बच्चों ने कहा सुना है ब्लू व्हेल गेम, एक ने कहा पिता करना चाहते है दूसरी शादी, इसलिए काटा है हांथ, प्लेयर ने नाम को पिन से हांथ में उकेरा है।

दंतेवाड़ा. ब्लू व्हेल गेम को लेकर पिछले दो दिनों से हायर सेकेंड्री स्कूल में हाईवोल्टेज ड्रामा जारी है। बच्चों की काउंसलिंग के बाद पालकों को शनिवार को स्कूल बुलाया गया। पालकों को बच्चों से मोबाइल दूर रखने की हिदायत दी गई। जिला शिक्षा अधिकारी ने बिना नाम लिए उन सभी 26 बच्चों की करतूत खुले आम बताई। बच्चों के हाथ काटने के मामले में कई घरेलू और निजी समस्याएं सामने आई। एक छात्र ने लिखा है कि वह फुटवॉल प्लेयर है। उसे मैसी खिलाड़ी बहुत पसंद है। इसलिए उसने कलाई पर उसका नाम गुदवाया है।

बच्चा अंदर पल रहे दर्द को बयां कर गया
एक और बड़ा विकट मामला सामने आया। काउंसलिंग में यह बच्चा अंदर पल रहे दर्द को बयां कर गया। इस लड़के ने कहा पिता शराब पीते है और घर जब आते है तो मां को छोडऩे और दूसरी शादी करने की बात कहते हैं। इस दर्द से ब्यथित हो कर उसने अपनी कलाई काटी थी। कु छ ने प्रमिका तो कुछ ने दोस्ती की बात का कबूलनामा किया। एक ने अपने हांथ में ऊॅ का निशान बनाया था। उसने कहा भगवान शिव की आराधना करना अच्छा लगता है।

26 छात्र-छात्राओं की सूची हुई है तैयार
इस प्रकरण में जो भी हो, लेकिन जिला शिक्षा विभाग से 26 छात्र-छात्राओं की सूची तैयार हुई है। इस सूची में नाम के आगे इस तरह के बयान लिखे हुए हैं। दो ही छात्र ऐसे निकले जिन्होंने कहा कि ब्लू व्हेल गेम को वह जानते हैं, लेकिन उन्होंंने इसे कभी सर्च तक नहीं किया। खेलना तो बड़ी दूर की बात है। अभी काउंसलर पूरी एतिहायत बरत रहे हैं। इन सभी बच्चों के पालकों को बुलाकर समझाइश दे रहे हैं। साथ ही बच्चों को इस तरह के काम न करने के लिए कहा है। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकारी डी समैय्या, पूर्व जिला शिक्षा अधिकारीे अहिल्या ठाकुर, थाना प्रभारी आर देवदास और विशेष पुलिस किशोर युनिट से आए लीलाराम गंगवेर उपस्थित थे।

समझाइश के साथ हिदायत भी दी
इस स्कूल में 700 से अधिक बच्चे दर्ज है। विशेष पुलिस किशोर युनिट से आए लीलाराम गंगवेर ने बच्चो और पालकों को समझाया और हिदायत भी दी। इस तरह के काम करने से उन पर कार्रवाई भी हो सकती है। लीलाराम गंगवेर का कहना है कि पूरी काउंसलिंग में बच्चों के ब्लू व्हेलगेम खेलने की बात सामने आई है। दो बच्चे ही जानते थे ब्ले व्हेल गेम के बारे में। उन्होंने सुना भर था, खेला उन्होंने भी नहीं है। अब सभी बच्चों को समझाईश दी जा चुकी है। साथ ही पालकों को भी इस गेम के बारे में गहराई से बता दिया गया। सभी स्कूलों के प्रा्रचार्यो को भी नजर रखने के लिए कहा गया है।

बयान और पत्र के बाद मचा हड़कंप
एएसपी अभिषेक प्ल्लव ने एक अंगे्रजी अखवार में बयान दिया है। उन्होंने ब्लू व्हेल गेम के खोलने की बात कही है। हालांकि उनसे हुई फोन पर चर्चा के दौरान कहा ये बयान दो दिन पूराना है। जांच में ब्लू व्हेल गेम खेलने की आशंका समाप्त हो चुकी है। प्रशासनिक स्तर पर जांच अभी भी जारी है। इस अधिकारी के बयान के बाद मामले को बल मिला। स्कूल के प्राचार्य एल वी यादव अशंका से भरा पत्र जिला शिक्षा अधिकारी को देकर छुट्टी पर चले गए। हायर सकें ड्री स्कूल के बच्चों पर सवाल खड़ कर दिए। इस पत्र के बाद एक बात का जरूर खुलासा हुआ है, बच्चे स्कूल में ही नहीं अपने -अपने घरों में भी परेशान रहते है। बच्चों का घरेलू समस्याओं से आहत होना भी वाकई चौंका देने वाला है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned