कल तक ये खबर चल रही थी कि चार महिला व चार पुरूष नक्सलियों मारे गए थे मुठभेड़ में, लेकिन आज.....

आज सुबह प्रेस काफ्रेंस में सबसे बड़ा खुलासा हुआ कि मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की संख्या

By: Badal Dewangan

Published: 20 Jul 2018, 04:03 PM IST

दंतेवाड़ा. दंतेवाड़ा और बीजापुर की सीमा में बसे गांव माओवादियों को उनकी मांद में घुसकर पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की। डीआरजी व एसटीएफ के जवानों ने छह महिला नक्सली समेत आठ माओवादियों को मार गिराने में कामयाब हुए जो इस साल अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी है। वर्ष 2018 में पुलिस को पुरे प्रदेश में इतनी बड़ी कामयाबी हासिल नहीं हुई थी।

Read more : ब्रेकिंग अपडेट : मारे गए माओवादियों की संख्या में इजाफा 4 महिला व 4 पुरूष माओवादी ढ़ेर

मारे गए नक्सलियों की संख्या में महिलाओं की संख्या ज्यादा है
आज सुबह प्रेस काफ्रेंस में सबसे बड़ा खुलासा हुआ कि मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की संख्या में महिलाओं की संख्या ज्यादा है। कल तक यह खबर रही कि चार महिला और चार पुरूष माओवादी इस मुठभेड़ में ढेर हुए हैं। लेकिन प्रेस कांफ्रेंस के बाद यह साफ हो गया कि पुरूष नक्सलियों से मारे जाने में महिला नक्सलियों की संख्या ज्यादा है।

मारे गए माओवादियों की शिनाख्त हो गई है
चंदू पीपीसी मेंबर सनकू जनमिलिशिया, भीमे सुखना, मंगली एरिया कमेटी मेंबर, जैनी महिला संगठन अध्यक्ष, कुमारी 13 नंबर प्लाटून की सदस्य व हड़में सीएनएम सदस्य इस हमले में मारे गए। मौके से दो इंसास, दो 303, दो 12 बोर, पेन गन बरामद किया गया। इन सभी सामानों को एकत्र करने के बाद भी घटनास्थल की तलाश जारी थी। ले किन पुलिस को कुछ नहीं मिला

पेन गन
पुलिस को एक नए तरीके के नया गन मिला जिसे पेन गन के नाम से जाना जाता है। इस पेन गन का इस्तेमाल स्माल एक्शन टीम इसका इस्तेमाल करती है। आवाज कम होता है। चलते फिरते फायर किया जाता है। सम्भवत पेन गन बस्तर संभाग में पहली बार मिला है। एक बार में एक बार ही फायर किया जा सकता है। इसमें 9एमएम रांउड का इस्तेमाल होता है। करीब 10 इंच लोहे के पाइप से निर्मित है।

Badal Dewangan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned