एक और पेपर लीक: 10वीं की परीक्षा में बांट दिया 12वीं का प्रश्न-पत्र, मचा हड़कंप

एक और पेपर लीक: 10वीं की परीक्षा में बांट दिया 12वीं का प्रश्न-पत्र, मचा हड़कंप

Badal Dewangan | Publish: Apr, 17 2018 03:29:04 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2018 05:41:27 PM (IST) Dantewada, Chhattisgarh, India

कुआकोंडा के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में बहुत बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है शिक्षकों की लापरवाही से एक ऐसी बात सामने आई है।

दंतेवाड़ा. कुआकोंडा के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में बहुत बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है शिक्षकों की लापरवाही से एक ऐसी बात सामने आई है जिसे आप भी पढ़ हैरान रह जाएगें दसवीं की ओपन परीक्षा में शिक्षकों ने 12वीं के के पेपर को बांट दिया। जबतक शिक्षकों को मालूम होता तबतक बहुत देर हो चुकी थी। मामला मीडिया में उछल चुका था। बताया जा रहा है कि, शिक्षक इस पेपर लीक मामले को देबाने में लगे हुए थे।

मिली जानकारी के अनुसार दंतेवाड़ा के कुआकोंडा गांव के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 2017-18 की ओपन विद्यालय की वार्षिक परीक्षा चल रही थी जिसमें दसवीं के विद्यार्थियों को 12 का पेपर थमा दिया गया। जो अंग्रेजी का पेपर 19 अपै्रल को बारहवीं के लिए ओपन होना था। वह 16 अप्रैल को दसवीं के ही ओपन कर दिया गया। जिसमें शिक्षकों की लापरवाही साफ नजर आ रही है। इस घटना ने सभी शिक्षकों पर सवाल खड़े हो गए है।

बताया जा रहा है कि, केंद्राध्यक्ष और सहायक केंद्राध्यक्ष की लापरवाही से ये अंग्रेजी का पेपर लीक हुआ है। उन्होने बिना ध्यान दिए दसवीं के छात्रों कों बारहवीं का अंग्रेजी का पर्चा पकड़ा दिया हल करने को। केंद्राध्यक्ष एवं सहायक केंद्राध्यक्ष दोनों पर लापरवाही का आरोप लगाया जा रहा है। एवं इस काम से उस स्कूल से सभी शिक्षक सदमें में हैं।

बात को दबाने में लगा हुआ शाला प्रबंधन
बताया जा रहा है कि, प्रिंसिपल आशा देवी कुश्वाहा और केंद्राध्यक्ष साथ ही सह केंद्राध्यक्ष गम्भीरराम साहू की लापरवाही के चलते पर्चा हुआ लीक। इन सभी के चलते पर्चा लीक होने की बात सामने आ रही है। सूचनातंत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पता चला है कि, इस बात को दबाने की कोशिश इन सभी लोगों के द्वारा की जा रही है।

पर्चा बंटा भी और बचा भी
लापरवाह शिक्षकों ये तक ध्यान नहीं रहा कि, दसवीं के छात्रों की संख्या 142 है एवं बारहवी के छात्रों की संख्या 192 इसका मतलब पर्चा बंटने के बाद लगभग 50 प्रश्रपत्र बच भी गए तब भी शिक्षकों को ये ध्यान नहीं रहा कि पर्चा लीक हो चुका है

जिला शिक्षा अधिकारी ने की पुष्टि
जिला शिक्षा अधिकारी डी समईया ने बताया कि, कोड जारी होने के बावजूद बिना देखे दसवीं का अंग्रेजी पर्चा बटने की जगह 12वी का 301 कोड का पर्चा बटवा दिया गया। पर्चा लीक की बात सही है। मैं कुआकोंडा स्कूल की तरफ स्वयं निकल रहा हूँ। प्रिंसिपल और सहकेन्द्रा अध्यक्ष की लापरवाही से पर्चा लीक हो गया है। सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Ad Block is Banned