script11 killed in trolley overturning in up | मन्नत पूरी होने पर गए थे ज्वारे चढ़ाने, गांव में उठी एक साथ 11 अर्थियां | Patrika News

मन्नत पूरी होने पर गए थे ज्वारे चढ़ाने, गांव में उठी एक साथ 11 अर्थियां

बच्चे होने पर ज्वारे चढ़ाने की कामना की थी, इसी कारण यह सभी परिवार सहित ज्वारे चढ़ाने के लिए जा रहे थे।

दतिया

Updated: October 16, 2021 01:57:08 pm

दतिया. मध्यप्रदेश के दतिया जिले में एक दिल दहला देने वाला हादसा सामने आया है, यहां का एक परिवार संतान की मन्नत पूरी होने पर यूपी गया था, जहां ट्रैक्टर ट्राली पलटने से बच्चे, महिलाओं सहित कुल 11 लोगों की मौत हो गई, ऐसे में एक ही गांव से एक साथ 07 अर्थियां उठने से गांव में गम की लहर छा गई।

death.png

जानकारी के अनुसार दतिया जिले के पंडोखर थाना क्षेत्र में शनिवार को एक साथ 07 अर्थियां उठी, इस गांव में एक साथ सात शवों का अंतिम संस्कार होने से हर आंख से आंसू निकल रहे थे, जिन्होंने भी यह नजारा देखा, लोगों के मुहं से शब्द नहीं निकल रहे थे। क्योंकि इस हादसे में वह बच्चे चले गए, जो मन्नत मांगने पर हुए थे।


यह था मामला, मध्यप्रदेश के दतिया जिले से कुछ लोग ट्रैक्टर ट्राली में सवार होकर दर्शन करने और मन्नत पूरी होने पर ज्वारे चढ़ाने के लिए जा रहे थे, इसी दौरान झांसी के चिरगांव थाना क्षेत्र के भांडेर रोड पर शुक्रवार दोपहर 2 बजे सामने से एक ओर ट्राली आने के कारण कट बताने की वजह से ट्राली पलट गई, ऐसे में नहर में डूबने के साथ ही ट्रैक्टर ट्राली के नीचे दबने से करीब 11 लोगों की मौत हो गई। जिसमें करीब 7 महिलाएं और 4 बच्चे शामिल थे।


जो हुए थे मन्नत से उनकी भी मौत


दतिया जिले के पंडोखर से पवन, अनिल, सुनील सहित अन्य 17 लोग झांसी के छिरौना गांव में स्थित देई बाबा मंदिर जा रहे थे। क्योंकि पवन और अनिल को शादी के कई सालों बाद भी संतान नहीं होने से बच्चों की कामना की थी, ऐसे में बच्चे होने पर ज्वारे चढ़ाने की कामना की थी, इसी कारण यह सभी परिवार सहित ज्वारे चढ़ाने के लिए जा रहे थे। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार हादसे में सुनील दोहरे ने अपनी मां मुन्नीदेवी, बहू पूजा, बेटी कर्षा, भतीजे अवि (डेढ़ साल) और 2 साल की भांजी परी को खो दिया। सुनील की पत्नी अर्चना हादसे में घायल हुई है। सुनील का कहना है कि दो लोगों की सांसें चल रही थीं। यदि एंबुलेंस में ऑक्सीजन होती तो उनकी जान भी बच सकती थी।

एक साथ उठी सात लोगों की अर्थियां
हादसे में पुष्पा देवी (45), मुन्नी देवी (45), सुनीता (42) पूजा देवी (25), राजो (45) , प्रेमवती (45), कुसुमा देवी (55) , करस्या (9 माह) पुत्री अनिल, परी (2 साल) पुत्री नीरू, अनुष्का (3) पुत्री बंटी, अवि महज डेढ़ साल का पुत्र पवन की मौत हो गई।

अंतिम संस्कार में भांडेर विधायक रक्षा संतराम सिरोनिया, जिला पंचायत सीईओ कमलेश भार्गव, जनपद सीईओ एसएस भटनागर, नायाब तहसीलदार शिवशंकर सिंह गुर्जर, भाजपा नेता हरिओम त्रिपाठी, जीतू दांगी सहित समस्त ग्रामीण अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.