गंदगी देख एडीएम बोले एक अधिकारी प्रतिदिन करेगा अस्पताल का निरीक्षण

गंदगी देख एडीएम बोले एक अधिकारी प्रतिदिन करेगा अस्पताल का निरीक्षण
datia

जिला चिकित्सालय के सर्जिकल व एसएनसीयू वार्ड से सटे ऑक्सीजन रूम में सिलेंडर लीक होने की घटना के बाद गुरुवार को अपर कलेक्टर पीएस जाटव एवं एसडीएम वीरेंद्र कटारे ने जिला चिकित्सालय के वार्डों का निरीक्षण किया व स्टाफ की बैठक ली।

दतिया. बुधवार को जिला चिकित्सालय के सर्जिकल व एसएनसीयू वार्ड से सटे ऑक्सीजन रूम में सिलेंडर लीक होने की घटना के बाद गुरुवार को अपर कलेक्टर पीएस जाटव एवं एसडीएम वीरेंद्र कटारे ने जिला चिकित्सालय के वार्डों का निरीक्षण किया व स्टाफ की बैठक ली। इस दौरान सीएमएचओ डॉ. आरएस गुप्ता, सिविल सर्जन डॉ. एमएस पंसारी, आरएमओ डॉ. केसी राठौर, एसडीओ विद्युत एवं यांत्रिकीय विभाग पीडब्ल्यूडी महेंद्र प्रताप सिंह राणा मौजूद रहे। अधिकारियों ने गुरुवार को जिला चिकित्सालय पहुंच कर पीआईसीयू, एसएनसीयू, सर्जिकल वार्ड, ऑक्सीजन रूम एवं मेल मेडिकल वार्ड का निरीक्षण किया। 
अपर कलेक्टर ने बताया कि अस्पताल में व्यवस्थाएं दुरूस्त रहें इसके लिए प्रतिदिन एक अधिकारी द्वारा अस्पताल का निरीक्षण किया जाएगा। निरीक्षण के दौरान अस्पताल में चादर गंदे पाए जाने पर अधिकारियों ने मरीजों को साफ चादर दिए जाने के निर्देश दिए। साथ ही एम्बुलेंस की समस्या सामने आने पर उन्होंने एम्बुलेंस को ठीक कराने अथवा किराए की एम्बुलेंस लगाने के निर्देश दिए। अस्पताल स्टाफ द्वारा सुरक्षा की समस्या और एमएलसी में आने वाली परेशानी को दूर करने के लिए छह होमगार्ड सैनिक पदस्थ करने और एमएलसी की व्यवस्था अस्पताल में ही किए जाने के लिए पुलिस अधीक्षक को प्रस्ताव बना कर भेजने के निर्देश दिए गए।


सेंवढ़ा में डॉक्टर व स्टाफ नर्स मिले नदारद

एसडीएम उदय सिंह सिकरवार ने गुरुवार को सिविल अस्पताल सेंवढ़ा का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जहां स्टाफ नदारद मिला, वहीं साफ-सफाई का अभाव मिला। इस पर एसडीएम ने नाराजगी जताते हुए व्यवस्थाएं सुधारने के निर्देश दिए। एसडीएम के औचक निरीक्षण से स्टाफ में अफरा-तफरी का माहौल बन गया।इस मौके पर नायब तहसीलदार रामदीन सेमिल, एई विकास केशरवानी व पीडब्ल्यूडी विभाग कमलेश शर्मा शामिल हुए।


41 कर्मचारी में से अधिकांश मिले नहीं

सेंवढ़ा अस्पताल में 41 कर्मचारी पदस्थ हैं,जिनमें से एसडीएम के निरीक्षण के दौरान अधिकांश गायब मिले। स्टाफ नर्स कविता नरबरे तो मार्च माह से अनुपस्थित पाई गई। इस संबंध में डॉ. बीके घनघोरिया ने बताया कि वह लंबे समय से छूट्टी पर हैं। इसके अलावा स्टाफ की कमी के बावजूद रेग्यूलर स्टाफ में से नर्स मौसमी दशहरे व बृजेश परिहार के जिला चिकित्सालय में अटैच होने की जानकारी सामने आई।

सेवंढ़ा अस्पताल में बहुत अनियमितत्ताएं हैं।जिनके सुधारने के लिए संबधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। साथ ही महिला डॉक्टर व स्टाफ नर्स की अनुपस्थिती निंरतर होने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई एवं स्टाफ नर्सों की कमी के होने के बावजूद दो स्टाफ नर्स को क्यों अटैचमेंट किया गया। उसके लिए भी कलेक्टर दतिया एवं सीएमएचओ दतिया को प्रतिवेदन भेजा जावेगा।
"उदय सिंह सिकरवार, एसडीएम सेंवढ़ा"

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned