युवकों की मौत से गुस्साए परिजनों ने लगाया जाम

एक्सीडेंट हुई या हत्या, पुलिस ने सात पर दर्ज किया मामला

 

डबरा. दो युवकों की मौत से गुस्साए उनके परिजनों ने शनिवार को डबरा-चीनोर मार्ग सात नंबर चौराहा पर जाम लगा दिया। दोपहर एक बजे से लगा जाम शाम 4.30 बजे खुला। परिजनों का कहना था कि उनका एक्सीडेंट नहीं हुआ है, दोनों की हत्या की गई है। उनके मालिकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए। अधिकारियों के आश्वासन के बाद गुस्साए लोगों ने जाम खोला।

शुक्रवार की रात करीब आठ बजे मंगलसिंह (25) पुत्र देवीलाल और उधमसिंह (55) पुत्र गंगलिया आदिवासी निवासी 7 नंबर दफाई ग्राम पंचायत मैना। उधमसिंह की नातिनी सागोबाई के यहां दष्टोन कार्यक्रम होने के कारण बाइक से जा रहे थे। कुछ समय बाद पुलिस को सूचना मिली कि सात नंबर और रिझोरा मार्ग के बीच मुडैल गांव के लखेस्वरी मंदिर के पास एक बाइक और दो लोग सडक़ किनारें गंभीर हालात में पड़े है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और पूछताछ की इस दौरान आसपास के लोग भी एकत्रित हो गए। गंभीर घायल होने पर दोनों को उपचार के लिए भितरवार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया। जहां दोनों को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। दोनों की मौत से गुस्साए परिजनों ने शनिवार की सुबह डबरा चीनोर मार्ग पर जाम लगा दिया।

जाम की सूचना मिलने पर एसडीओपी घाटीगांव प्रवीण अष्ठाना, तहसीलदार शिवदयाल धाकड़ और चीनोर थाना प्रभारी शक्तिसिंह पहुंचे। बाद में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देहात एसएस गौर पहुंचे और परिजनों को समझाया तथा उनकी मांगे पूरी करने का आश्वासन दिया तक जाकर वे माने। हालांकि रात में किसी अज्ञात वाहन की टक्कर से युवकों की मौत होने की बात सामने आई थी और पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया था। शनिवार को आश्वासन के बाद पुलिस ने सात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।
शव रखकर लगाया जाम : पीएम के बाद बॉडी मिलने पर दोनों मृतकों के परिवारों एवं दफाई के लोगों ने एकत्रित होकर मृतकों के मालिकों पर हत्या का आरोप लगाते हुए दोपहर 1 बजे बॉडी रखकर डबरा-चीनोर मार्ग सात नंबर चौराहा पर जाम लगा दिया। मृतक उधम सिंह की पत्नी रबोदी बाई ने बताया कि हम सभी नातिनी के दष्टोन कार्यक्रम में गए थे। पुलिस ने उन्हें काफी समय बाद सूचना दी। उनका आरोप है कि उनकी हत्या की गई है। मृतक उधम सिंह मुख्त्यार सिंह निवासी 7 नंबर दफाई के यहां काम करता था। मृतक पत्नी ने मालिक पर हत्या का आरोप लगाया। मंगलसिंह के बड़े भाई सन्नी ने मालिक गुरुदेव निवासी गिजौरा पर हत्या का आरोप लगाया है। इसी बात को लेकर जाम लगाया गया।
इसलिए संदेह बढ़ा: परिजनों ने बताया कि सुबह जब हमें सूचना मिली हम घटनास्थल पहुंचे। जिसमें एक जूता खेत में और एक अन्य जूता सडक़ किनारे मिला है। उधम का चेहरा भी क्षतिग्रस्त है जिसका चेहरा भी पहचान नहीं आ रहा है। साथ ही बाइक सलामत है, बाइक क्षतिग्रस्त नहीं है।
एएसपी देहात एसएस गौर ने बताया कि इस मामले में सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। गरदीप सिंह पुत्र मंगलसिंह, प्रदीप पुत्र मुख्त्यार सिंह, मिंटू पुत्र सखी सिंह, सोनू पुत्र सिद्दा सिंह निवासी फार्म नं.7, गरुदेव पुत्र जीतासिंह, सोनू पुत्र सुंदर सिंह, पपेन्द्र पुत्र वीरसिंह निवासी गिजोरा के खिलाफ 302 का मामला दर्ज किया है।

संजय तोमर
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned