सफाई कर्मचारी हड़ताल पर सफाई कार्य ठप

सफाई कर्मचारी हड़ताल पर सफाई कार्य ठप
datia

बंदूक की नोंक पर धमकाने और अभद्र व्यवहार करने वाले व्यक्ति पर कार्रवाई की मांग को लेकर हड़ताल पर गए कर्मचारी

दतिया. शहर में सोमवार को सफाई कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने की वजह से सफाई व्यवस्था पूरी तरह ठप रही। सफाई न होने की वजह से शहर के मुख्य मार्गों सहित गली मुहल्लों में कचरे के ढेर लगे रहे। कर्मचारी कुछ दिन पूर्व एक व्यक्ति द्वारा सफाई कर्मचारियों को बंदूक की नोंक पर धमकाने तथा अब तक पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने से नाराज हैं। हालांकि शाम के समय कर्मचारियों ने सीएमओ एके दुबे की समझाइश पर हड़ताल वापस ले ली।


उल्लेखनीय है कि सफाई कर्मचारी संजू वाल्मीकि एवं राहुल वाल्मीकि विगत 28 अगस्त को रामनगर कॉलोनी में कचरा वाहन से कचरा उठाने गए थे। इस दौरान रोज कचरा न उठाने पर रामनगर कॉलोनी निवासी पवन तिवारी नामक व्यक्ति ने बंदूक अड़ा दी। इससे कर्मचारी भयभीत हो गए थे। कर्मचारियों का आरोप है कि उन्हें बंदूक की नोक पर दौड़ाया गया और अध्यक्ष व सीएमओ को गालियां दी गईं। कर्मचारी किसी तरह वहां से निकल सके।


इस घटना के बाद कर्मचारियों ने दो घंटे की हड़ताल की थी और घटनाक्रम से अध्यक्ष व सीएमओ को अवगत कराया था। घटना के संबंध में कोतवाली पुलिस को भी आवेदन देकर संबंधित के खिलाफ मामला दर्ज करने व गिरफ्तारी की मांग की थी। इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई न होने से सोमवार की सुबह गाड़ीखाना में हाजिरी के दौरान कर्मचारियों ने हड़ताल का ऐलान कर दिया। कर्मचारियों द्वारा हड़ताल का ऐलान किए जाने के बाद कचरा उठाने वाले वाहन भी निकल सके।



दिन भर यह चला घटनाक्रम
कर्मचारियों के हड़ताल कर देने की जानकारी मिलने पर सीएमओ एके दुबे मौके पर पहुंचे और सफाई कर्मचारियों को समझाया कि अभी नवरात्र चल रहीं हैं इसलिए हड़ताल स्थगित कर दें। लेकिन कर्मचारी नहीं माने। कर्मचारियों का कहना था कि पुलिस कार्रवाई करने की बजाय उल्टा उन्हें धमका रहे हैं।

सीएमओ ने इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों से बात करने का भी आश्वासन दिया लेकिन कर्मचारी नहीं माने। कर्मचारियों का कहना था कि संबंधित व्यक्ति या तो उनसे माफी मांगे या पुलिस उसे गिरफ्तार करे। सीएमओ ने कहा कि मैं हड़ताल स्थगित करने के लिए आपसे हाथ जोड़ कर माफी मांग लेता हूं लेकिन बात नहीं। इसके बाद नगरपालिका कर्मचारी यूनियन के पूर्व अध्यक्ष राजेश दुबे, पार्षद राकेश साहू एवं पार्षद प्रतिनिधि दीपक सोनी ने भी कर्मचारियों को समझाया पर कर्मचारी नहीं माने।


सफाई कर्मचारियों से यह भी कहा गया कि पुलिस को दो-तीन की मोहलत देकर देख लेते हैं अगर कार्रवाई नहीं होती है तो सभी कर्मचारी हड़ताल करेंगे और परिषद की बैठक बहिष्कार करेंगे। इस दौरान सीएमओ ने टीआई अजय भार्गव से फोन पर बात की तो उन्होंने बताया कि डीजीपी आ रहे हैं इस वजह से वह व्यस्त हैं। उन्होंने कहा कि आवेदन की जांच चल रही है। सभी के बयान हो जाने के बाद कार्रवाई की जाएगी।


इसके बाद कर्मचारी रैली के रूप में पुलिस के खिलाफ नारे लगाते हुए कोतवाली पहुंचे और वहां मौजूद एस आई धवल सिंह चौहान से इस संबंध में चर्चा हुई तो उन्होंने बताया कि आप आवेदन दे दें कार्रवाई होगी। लेकिन कर्मचारी अपनी जिद पर अड़े रहे। इस पर चौहान ने शाम को टीआई अजय भार्गव के आने पर उनसे चर्चा करने के लिए कहा तो कर्मचारी कुछ देर रुक कर वहां से वापस आ गए। बाद में शाम के समय कर्मचारियों ने एक बार और सीएमओ द्वारा समझाइश दिए जाने के बाद हड़ताल वापस ले ली। इस दौरान लेबर चली जाने की वजह से शहर में सफाई नहीं हो सकी।



MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned