कच्चे मकान में धधकी आग, जिंदा जल गई दिव्यांग वृद्धा

  • ग्राम बागुर्दन में मकान में लगी आग में जान गंवाई
  • भांडेर में नगर परिषद कॉम्प्लेक्स की दुकानों में भी आग धधकी

By: हुसैन अली

Published: 12 May 2021, 10:59 PM IST

इंदरगढ़/भांडेर. मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात दो स्थानों पर आगजनी की घटनाएं हुईं। इन घटनाओं में जान-माल का नुकसान हुआ है। आगजनी के दौरान ग्राम बागुर्दन में एक वृद्ध महिला जिंदा जल गई तो भांडेर में नगर परिषद कॉम्प्लेक्स की दुकानों में आग भडक़ने से तीन लोगों का हजारों रुपए का नुकसान हुआ है।

दुरसड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम बागुर्दन में सिग्गो अहिरवार अपनी पत्नी के साथ झोपड़ीनुमा कच्चे मकान में रहता था। सिग्गो व उसकी पत्नी भग्गो देवी (७५) के पांच लडक़े हैं। पांचों लडक़े भी गांव में ही रहते हैं। पति-पत्नी की जब इच्छा होती थी तब वह बच्चों के पास भी कुछ दिन जाकर रुक आते थे। मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात भग्गो और सिग्गो सो रहे थे। भग्गो घर के अंदर सोई हुई थी और सिग्गो गर्मी ज्यादा होने की वजह से घर के बाहर सोया हुआ था। इसी दौरान दंपती के कच्चे मकान में संदिग्ध परिस्थितियों में आग भडक़ गई। आग की लपटें तेज होने पर सिग्गो ने गांव वालों को मदद के लिए बुलाया। उन्होंने अपने स्तर पर आग को बुझाने का प्रयास किया, लेकिन जब तक आग पर काबू पाया जा सका तब तक दिव्यांग भग्गो की जल जाने से मौत हो चुकी थी।

दिव्यांग थी मृतका

आगजनी में जान गंवाने वाली भग्गो अहिरवार दिव्यांग थी। दिव्यांग होने की वजह से वह आगजनी के दौरान भाग नहीं सकी। गांव वाले आग बुझाकर उसे बाहर निकाल पाते तब तक उसकी मौत हो गई। घटना से गांव में शोक का माहौल है।

हम जांच कर रहे हैं

थाना प्रभारी दुरसड़ा धर्मेन्द्र सिंह कुशवाहा का कहना है कि आगजनी की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। मृतका के घर के पास कूड़े के ढेर और घूरा लगा होने की वजह से आग भडक़ने की संभावना है। मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

कॉम्प्लेक्स में आग, दुकानदारों का सामान जला

भांडेर नगर परिषद के कॉम्प्लेक्स की गैलरी में मंगलवार-बुधवार की रात अचानक आग लग गई। आग लगने से एक डॉक्टर सहित दो दुकानदारों का सामान जल कर नष्ट हो गया। नगर पालिका कर्मचारियों ने मेहनत से आग पर काबू पाया। नगर परिषद कॉम्प्लेक्स में सोनू सर्राफ का कनफेक्शनरी स्टोर, घोषीराम माहौर की बिजली की दुकान तथा माधव कुशवाहा की निजी क्लिनिक है। मंगलवार को सुबह नगर परिषद कॉम्प्लेक्स के बाहर एकत्रित हुए कर्मचारियों ने धुआं उठते देखा तो राजेंद्र दरोगा को बताया। मौके पर मौजूद नगर पालिका कर्मचरियों ने टैंकर बुलाकर बाल्टियों से आग को बुझाने का प्रयास किया। थोड़ी देर बाद फायर ब्रिगेड भी मौके पर पहुंच गई। आग गैलरी में रखे सामान में भडक़ी अन्यथा हादसा बड़ा हो सकता था। आगजनी में सोनू सर्राफ का फ्रीज व कूलर, घोषीराम माहौर के पांच कूलर व जनरेटर तथा माधव कुशवाहा की क्लीनिक के तीन पलंग व एक अलमारी जल गई। नगरपालिका कर्मचारियों की सक्रियता ने आग को आगे नहीं बढऩे दिया।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned