गरीबों के लिए आया मुफ्त राशन, हजारों उपभोक्ताओं को बांटा ही नहीं

जिला प्रशासन सख्त, दिए राशन दुकान संचालकों को नोटिस, कई दुकानें तो खोली ही नहीं

दतिया. कोरोना संक्रमण काल में भी राशन बिक्रेता लापरवाही व मनमानी करने से नहीं चूक रहे हैं। प्रदेश के सीएम ने जिले में तीन माह का मुफ्त राशन बांटने के लिए तीन दिन तय किए थे, लेकिन इन दिनों में भी दुकान संचालकों ने गरीबों के हक का राशन नहीं बांटा। लापरवाही के चलते जिले की डेढ़ दर्जन से ज्यादा दुकानों पर या तो राशन बांटा नहीं गया या फिर दुकानें खोली ही नहीं गईं। नाराज होकर संबंधित अधिकारियों ने दुकान संचालकों को कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं।

कोरोना संक्रमण काल में गरीबों का रोजगार छिन गया है। मजदूरी नहीं कर पाने से उनके सामने रोटी का संकट पैदा हो गया है। इसी को देखते हुए केन्द्र व राज्य सरकार ने संयुक्त रूप से जिले के एक लाख परिवारों को मुफ्त में राशन बांटने का ऐलान किया था। प्रदेश शासन के निर्देश पर इसके लिए कलेक्टर संजय कुमार ने जिले में तीन दिन में ही मुफ्त राशन बांटने की गरज से 17, 18 व 19 मई के दिन तय किए थे। इनमें अप्रैल, मई व जून का मुफ्त राशन बांटने के आदेश जारी किए थे ताकि पात्र गरीबों को राशन का संकट न आए। वे घर में बैठकर रोटी खा सकें, लेकिन रियायती मूल्य के तमाम दुकानदारों ने लापरवाही का परिचय दिया। जिले की डेढ़ दर्जन से ज्यादा दुकानें या तो खोली ही नहीं गईं अगर खोलीं भी तो उपभोक्ताओं को राशन नहीं बांटा।


छह दुकानें तो खूली ही नहीं

कलेक्टर के आदेश को ताक पर रखकर दतिया अनुभाग की ही छह दुकानें तो खोली ही नहीं गईं। इन दुकान संचालकों को दतिया एसडीएम अशोक सिंह चौहान ने नोटिस जारी भी कर दिए हैं। नोटिस में उल्लेख किया गया है कि जिन तीन तिथियों में मुफ्त राशन बंटना था उन दिनों में दुकानें खोली ही नहीं गई। ऐसे संचालकों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली नियंंत्रण 2015 कंडिका 10(3), 11(3) व धारा 18 के प्रावधानों का उल्लंघन किया है। उन्हें तीन दिन का वक्त दिया गया है। चेतावनी दी है कि अगर वे तीन दिनों में दुकान बंद होने का कारण बताते हैं तो ठीक वरना उनके खिलाफ दुकान निलंबित करने, जमा धरोहर राशि को राजसात करने व अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की चेतावनी दी है।

इनको मिले नोटिस

एसडीएम ने रेंड़ा, सिरोल, चरबरा, लरायटा समेत दो अन्य दुकान संचालकों के नाम नोटिस जारी किए हैं। इसके अलावा भांडेर, सेंवढ़ा अनुभाग के कुछ दुकानदारों को नोटिस दिए हैं। जिले में इस तरह की 19 दुकानें थीं जो या तो खुली ही नहीं या फिर राशन नहीं बांटा गया। एसडीएम चौहान का कहना है कि अनुभाग के कई दुकानदारों को नोटिस दिए हैं।
कथन


होगी सख्त कार्रवाई

गरीबों को मुफ्त राशन बांटने के लिए तीन दिन तय किए थे। इन दिनों में जिले की डेढ़ दर्जन से ज्यादा दुकानें खुली नहीं या फिर राशन नहीं बांटा गया। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
संजय कुमार, कलेक्टर

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned