मुख्य सचिव के आदेश का नौ दिन बाद क्रियान्वयन

Implementation of Chief Secretary's order after nine days: अवैध रूप से लगवाए होडिंग बैनर हटवाए

 

दतिया. प्रदेश के मुख्य सचिव द्वारा जारी आदेश के बाद भी अवैध रूप से होर्डिंग व पोस्टर नहीं हटाए जा सके थे। इस मामले को पत्रिका ने चार नवंबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था।शनिवार को नपा की टीम ने उन्हें जगह-जगह से हटाया। बता दें कि चार नवंबर को पत्रिका ने खंभों पर बिना अनुमति के लगा रखे बैनर पोस्टर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

इसमें उल्लेख किया था कि 31 अक्टूबर को प्रदेश के मुख्य सचिव ने सभी कलेक्टर व नगरीय निकाय के अधिकारियों को पत्र जारी किए थे। इसमें उल्लेख किया गया था कि नगरीय क्षेत्र में अवैध होर्डिंग नहीं लगाए जाने चाहिए। अगर लगे हों तो उन्हें तत्काल प्रभाव से हटाए जाएं पर इस आदेश का नगर पालिका प्रशासन पर असर नहीं हुआ। जगह-जगह शहर की सूरत व सरक्षा को आघात पहुंचाने वाले होर्डिंग व बैनर लगाए गए थे।।

इस आदेश के पहुंचने के बाद भी नगर पालिका प्रशासन ने सर्वे नहीं कराया न ही उन्हेंं हटाने की कोशिश की। लापरवाही इतनी थी कि शहर के हर बिजली के खंभे पर होर्डिंग व बड़ी संख्या में वैनर देखे जा सकते हैं। इससे न केवल यातायात में बाधा पैदा हो रही है बल्कि शहर के सौंदर्यीकरण में भी दिक्कत हो रही है।

लेकिन शनिवार को इस मामले में नगर पालिका प्रशासन ने रुचि ली और शहर में जगह-जगह लगे पोस्टरों को हटाया। टीम ने रेलवे स्टेशन रोड से तमाम खंभों पर से बैनर पोस्टर व होर्डंग हटाए। इतना ही नहीं लोगों को चेतावनी भी दी कि अगर किसी ने अवैध रूप से होर्डिंग लगाए तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Gaurav Sen
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned