महिलाओं को देख बंदर कर रहे हमले

सेंवढ़ा के रामपुरा खुर्द गांव में कई महिलाएं घायल Monkey attacks on women, news in hindi, mp news, datia news

By: संजय तोमर

Published: 07 Mar 2020, 07:51 PM IST

सेंवढ़ा. तहसील सेंवढ़ा के ग्राम रामपुरा खुर्द में इन दिनों बंदरों का आतंक बना हुआ है। जिससे ग्रामीणजन काफी भयभीत बने हुए है। बंदरों के काटने से अभी तक करीब आधा दर्जन लोग जख्मी हो चुके हैं। इस संबंध में ग्रामीणो ंने सीएम हेल्प लाइन पर भी शिकायत दर्ज कराई है।

ग्राम रामपुरा खुर्द के लोग इन दिनों बंदरों के आतंक से काफी परेशान है। स्थिति यह है कि जब महिलाएं कामकाज के लिए घरों की छत पर पहुंचती है तो बंदर उन पर हमला बोल देते है। अभी तक बंदरों के काटने से आधा दर्जन महिलाएं घायल हो चुकी हैं। महिलाओं का कहना है कि बंदरों ने काम करना मुश्किल कर दिया है। रमा देवी, ममता धाकड़, गीता धाकड़ ने बताया कि इस संबंध में सीएम हैल्पलाइन में भी शिकायत दर्ज कराई गई है।

अस्पताल में नहीं रैबीज के इंजेक्शन
ग्रामीणों का कहना है कि बंदर से जख्मी होकर जब पीडि़त सिविल अस्पताल सेंवढ़ा पहुंचते हैं तो वहां रैबिज के इंजेक्शन नहीं मिलते। इंजेक्शन बाजार से खरीदकर लाना पड़ते हैं। इससे अस्पताल की अव्यवस्थाओं का पता चलता है। इस संबंध में अस्पताल में पदस्थ डॉ. नागर का कहना है कि यहां पिछले दो हफ्ते से रैबीज के इंजेक्शन नही है। वहीं सीएमएचओ डॉ. एसएन उदयपुरिया का कहना है कि यदि सिविल अस्पताल में रैबीज के इंजेक्शन नही है तो हम दतिया से दस-बीस इंजेक्शन भिजवा देते है।

टीम बनाकर जंगल में छोड़ा जाएगा बंदरों को
बंदरों को पकडऩे के लिए टीम गठित की गई है। गांव में टीम को भेजकर बंदरों को पकड़वाया जाएगा और उन्हें पकडक़र जंगल में छोड़ा जाएगा। जल्द ही गांव से बंदरों का आतंक खत्म कर दिया जाएगा।
चन्द्रशेखर सिसोदिया, प्रभारी वन अधिकारी सेंवढ़ा

संजय तोमर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned