23 पंचायतों में नहीं मुक्तिधाम, होती है परेशानी

विकास के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च होने के बाद भी गांवों में शांतिधाम जैसी सुविधा नहीं बनवा पाए अधिकारी

दतिया. परिवार में किसी की मौत होने से लोग दुख में तो डूब ही जाते हैं, लेकिन अगर मौसम खराब हो और गांव में अंतिम संस्कार के लिए मुक्तिधाम न हो तो दुख के साथ लोग परेशान भी होते हैं। दतिया तहसील क्षेत्र की ही बात करें तो 23 ग्राम पंचायतों में शांतिधाम नहीं है। शांतिधाम के अभाव में ग्रामीणों को खुले आसमान के नीचे और बरसात में तिरपाल तानकर अंतिम संस्कार करना पड़ता है।


प्रदेश सरकार गांवों में मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिए भरपूर राशि दे रही है। मूलभूत सुविधाओं में सड़क, बिजली, पानी के साथ मुक्तिधाम भी शामिल है, लेकिन कई गांवों में प्रशासन अभी तक मुक्तिधाम नहीं बनवा पाया है। गांव में मुक्तिधाम के निर्माण के लिए एक कार्यालय से दूसरे कार्यालय में अधिकारी पत्राचार करने के अलावा कुछ नहीं कर रहे हैं। सोमवार को दतिया तहसील क्षेत्र के ग्राम जखौरिया में खेत में खड़ी फसल काटकर वृद्ध का अंतिम संस्कार किए जाने का मामला सामने आने के बाद पत्रिका ने इसकी पड़ताल की तो यह तथ्य सामने आया कि जिले में 23 ग्राम पंचायतों के अंतर्गत आने वाले ग्रामों में शांतिधाम का अभाव है। गांव में शांतिधाम नहीं होने से ग्रामीण परेशान होते हैं।

पहले भी सामने आ चुके हैं मामले

जिले में मुक्तिधाम न होने की वजह से बरसात के सीजन में तिरपाल लगा कर अंतिम संस्कार किए जाने के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं। मामले सामने आने के बाद भी अधिकारियों ने मुक्तिधाम बनवाने की बजाय सिर्फ पत्राचार ही किया है।

इन गांवों में नहीं हैं मुक्तिधाम

जानकारी के मुताबिक दतिया जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाले ग्राम चिरूला, तिवारी का कुआ, लिधौरा, रगुधापुरा, भांसड़ाकला, पचारा, पनुहा, वगेधरसानी, जौहरिया, हतलव, गोविंदनगर, वरोह, गोरा, महेवा, बामरौल, रैपुरा, कुडऱाया, पाचोर, महुआ, सिकउआ, डगराकुआ, झडिय़ा, वरोदी गांवों में शांतिधाम नहीं हैं। इन गांवों में मुक्तिधाम के लिए चिह्नित जमीन पर कहीं विवाद है तो कहीं अतिक्रमण है। कई गांव ऐसे भी हैं, जहां मुक्तिधाम के लिए अभी तक जमीन ही चिह्नित नहीं हो पाई है।

250 गांव हैं दतिया तहसील क्षेत्र में
160 गांवों में बने हैं मुक्तिधाम
28 गांवों में अभी निर्माणाधीन हैं मुक्तिधाम
23 गांव मुक्तिधामविहीन हैं
07 गांवों में मुक्तिधाम की जमीन पर अतिक्रमण
18 गांवों में मुक्तिधाम निर्माण के लिए जगह नहीं

मुक्तिधाम के लिए जमीन की समस्या का मामला पहली बार मेरे संज्ञान में आया है। मैं इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करूंगा। जहां शांतिधाम के लिए चिह्नित जमीनों पर अतिक्रमण है, वहां अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी
अशोक सिंह चौहान, एसडीएम दतिया

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned