हर्ष फायर के दौरान एक की मौत, दो घायल

हर्ष फायर के दौरान एक की मौत, दो घायल

monu sahu | Publish: Apr, 17 2018 11:41:39 PM (IST) Datia, Madhya Pradesh, India

बच्चे के दष्टोन समारोह के दौरान चल रही थी आर्केस्ट्रा

दतिया. बच्चे के दष्टोन में रिश्तेदार द्वारा किए गए हर्ष फायर के दौरान एक युवक की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। घटना थरेट थाना क्षेत्र के ईंगुई गांव की है। सोमवार की देररात हुई इस घटना के तत्काल बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को पहले जिला चिकित्सालय ले जाया गया। लेकिन हालत गंभीर होने के कारण उन्हे ंंग्वालियर रैफर किया गया। घटना के बाद मंगलवार की दोपहर परिजनों ने हर्ष फायर करने वाले आरोपी के खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत मामला दर्ज करने की मांग करते हुए दतिया-सेंवढ़ा रोड पर थाने के सामने चक्काजाम कर दिया। करीब डेढ़ घण्टे तक जाम के बाद परिजनों को समझाइश दी गई तब कही जाकर यातायात बहाल हो सका। पुलिस ने हर्ष फायर करने वाले के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।


पुलिस के मुताबिक ईंगुई निवासी गोटीराम पटवा के नाती और वीरेन्द्र के पुत्र का दष्टोन समारोह था। सोमवार की शाम से तो सब कुछ ठीक चला लेकिन रात करीब ११ बजे आयोजन में चल रही आकेस्ट्रा में आई डांसर का नृत्य शबाब पर था तभी गोटीराम के दामाद दिलीप पटवा निवासी चडऱौआ ने ३१५ बोर के कट्टे से हर्ष फायर कर दिया। कट्टे से निकली गोली के छर्रे अंकुश जाटव (१८) पुत्र हरीमोहन जाटव निवासी थरेट, गजेन्द्र कुशवाहा निवासी ईंगुई और शत्रुघ्न राजपूत निवासी चदुरा को लगे। तीनों को किसी के सिर में तो किसी के गले में छर्रे लगे। घटना से पूरे माहौल में हडक़ंप मच गया। आरोपी हर्ष फायर कर मौके से भाग निकला। सूचना थरेट थाना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने एंबुलेंस की मदद से तीनों घायलों को पहले तो जिला चिकित्सासय में भेजा लेकिन यहां हालत ठीक न होने के कारण तीनों को ग्वालियर रैफर किया गया। इनमें से इलाज के दौरान अकुंश जाटव की मौत हो गई और गजेन्द्र व शत्रुघ्न का उपचार चल रहा है। अंकुश के भाई विशाल जाटव की रिपोर्ट पर थरेट थाना पुलिस ने आरोपी दिलीप पटवा के खिलाफ धारा ३०८ आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है।


डेढ़ घण्टे लगाया जाम


अंकुश की मौत के बाद मंगलवार की सुबह उसका शव ग्वालियर से थरेट लाया गया। शव के पहुंचते ही घर में चीख पुकार मच गई। घर के महिला पुरुष और रिश्तेदार और मोहल्ले के लोग इकट्ठा हो गए। देखते ही देखते दोपहर की तेज धूप में सैकड़ों महिलाओं व पुरुषो ने दतिया-सेवढ़ा स्टेट हाइवे पर पहुंचकर थाने के सामने चक्काजाम कर दिया। उनकी मांग थी कि दष्टोन के दौरान कट्टे से गोली चलाने वाले आरोपी दिलीप के खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जाए। चक्काजाम की सूचना मिलने पर एसपी मयंक अवस्थी ने मौके पर इंदरगढ़, भगुवापुरा, अतरेटा समेत अन्य थानों की पुलिस मौके पर भेजी। चक्काजाम में शामिल लोगों को जब समझाया गया कि हर्ष फायर में फायर करने वाले का इरादा किसी को मारने का नहीं होता। इसीलिए हत्या की धाराओं के तहत मामला दर्ज नहीं किया जा सकता। वहीं परिजनों के रिश्तेदारों ने भी समझाया तब कही जाकर करीब डेढ़ घण्टे के बाद जाम से मुक्ति मिल सकी। इस दौरान अंकुश का शव थाना परिसर में एंबुलेंस में ही रखा रहा। चक्काजाम खुलने के बाद ही मृतक का अंतिम संस्कार किया जा सका।


सैंकड़ो वाहन फंसे रहे जाम में


इन दिनों जोरदार सहालग चल रही है। १८ अप्रैल की बड़ी सहालग है। आने-जाने वालों का सिलसिला जारी है। स्टेट हाइवे १९ पर मंगलवार को भी यातायात काफी था। इसी दौरान जाम लग जाने से न केवल शादी समारोह और खरीददारी करने जा रहे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं इलाज के लिए आने-जाने वाले लोगों को भी भारी तकलीफ हुई।

 

नहीं मिला आरोपी


हर्ष फायर की सूचना पर तत्काल ही पुलिस बल मौके पर पहुंची। बल के कुछ कर्मचारियों ने तो घायलों को अस्पताल भेजने में मदद की तो कुछ बल आरोपी के गांव पहुंचा और दबिश दी। लेकिन आरोपी न तो घटना स्थल पर था और न ही घर पर लेकिन जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं जाम में शामिल लोगों को समझा बुझाकर घर भेजा गया।

शैलेन्द्र गुर्जर, थाना प्रभारी थरेट

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned