भगवान झूलेलाल की जयंती पर ये हुआ खास

घर-घर में प्रतिमाओं की हुई पूजा, नहीं निकली झांकियां

This special happened on the birth anniversary of Lord Jhulelal, news in hindi, mp news. datia news

दतिया. सिंधी समुदाय द्वारा बुधवार को चेटीचंड पर्व एवं झूलेलाल जयंती अपने घरों में ही मनाई गई। कोरोना वायरस के प्रभाव के चलते संत हजारी राम पंचायत द्वारा इस बार सिंधी समाज के लोगों को पूजन के लिए घरों पर झूलेलाल की मूर्तियां वितरित की गई थीं। जिला प्रशासन के आदेश के चलते समाज ने भी किसी भी तरह के आयोजन से खुद को अलग-अलग कर लिया। उसने इस दौरान निकलने वाली झांकियां व शोभायात्रा का आयोजन नहीं किया। इससे कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने में भी मदद मिली।

लोगों ने घरों पर ही भगवान झूलेलाल का पूजन किया गया। जबकि हर वर्ष दांतरे की नरिया स्थित झूलेलाल मंदिर में समारोह का आयोजन होता है और चल समारोह निकाला जाता है। चल समारोह में झांकियां भी आकर्षण का केंद्र होती थीं, लेकिन इस बार शासन - प्रशासन के निर्देशों का पालन करते हुए सिंधी समुदाय ने समारोह का आयोजन नहीं किया।

इसके चलते अधिकांश श्रद्धालुओं ने भगवान झूलेलाल की प्रतिमाओं का विधि विधान से घरों पर ही पूजन किया। इस बार मंदिर में परंपरा अनुसार अखंड ज्योति प्रज्वलित की गई और बुधवार को समाज के सिर्फ चार लोगों ने लाला का तालाब पहुंच कर ज्योति का विसर्जन किया। इस अवसर पर गोविंद ज्ञानानी, धर्मदास भंबानी, कृष भंबानी, किप्पी गावड़ा मौजूद रहे।

संजय तोमर Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned