महिला का सड़ा गला शव नहर से बरामद, बेटे की तलाश जारी

राजघाट नहर में दोनों की हत्या कर शव फेके जाने का परिजनों ने लगाया आरोप

By: संजय तोमर

Published: 10 Jan 2019, 05:14 PM IST

दतिया. पांच दिन पहले उनाव कस्बे से गायब मां-बेटे में से मां का सड़ा गला शव पुलिस ने राजघाट नहर से बरामद किया। वहीं उसके चार वर्षीय बेटे की तलाश की जा रही है। परिजनों ने आरोप लगाया है कि महिला की गला घोंटकर हत्या की गई है। बाद में उसके शव को नहर में फेंक दिया गया। शव की तलाश में तीन दिन पहले से ही पुलिस ने राजघाट नहर को बंद करा दिया था। इस वारदात को किसने अंजाम दिया यह पता नहीं चल सका है लेकिन पुलिस को उम्मीद है कि जल्द ही आरोपी गिरफ्त में होंगे।

पुलिस के मुताबिक चार जनवरी को उनाव कस्बा निवासी रेखा दोहरे (25) व उसका चार वर्षीय बेटा शिवा घर से गायब हो गया था। शिवा का पिता झांसी में रहता है। जबकि मां रेखा अपने मायके में रह रही थी। रेखा व उसकी भाभी कुसुम साथ ही रहती थीं वहीं रेखा का भाई किसी मामले में जेल में है। दोनों के गुमशुदगी दर्ज होने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी । एसपी मयंक अवस्थी को तीन दिन पहले शक हुआ था कि हो सकता है कि दोनों नहर में गिर गए हों या उन्हें किसी ने दोनों की हत्या कर दी हो। शक के आधार पर एसपी ने तीन दिन पहले ही जल संसाधन विभाग के अधिकारियों से कहकर गुना जिले के चंदेरी से नहर का पानी बंद कराया ताकि उन्हें तलाशा जा सके। पानी खाली होने के बाद जब पुलिस ने तलाशा तो बुधवार की सुबह एक महिला की लाश मोहना के हनुमान के पास से निकलने वाली राजघाट नहर में मिल गई। सिविल लाइन थाना क्षेत्र में मिली लाश की जब शिनाख्त की गई तो वह रेखा दोहरे की ही निकली। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया।

खाल निकल चुकी थी
पुलिस को रेखा की जो लाश मिली है। इससे साफ जाहिर है कि उसे किसी ने पहले मारा-पीटा और बाद में गलाघोंट कर नहर में फें क दिया गया। शव इतना पुराना था कि उसकी खाल निकलना शुरू हो गई थी। मौके पर पहुंची एफएसएल टीम प्रभारी डॉ सतीश मान के मुताबिक प्रथम दृष्टया यह मिला कि उसके दाएं कान के ऊपर चोट का निशान था लेकिन उसकी कहीं से हड्डी नहीं टूटी पाई गई।

चार जनवरी को रेखा दोहरे व उसके बेटे की गुमशुदगी दर्ज हुई थी। शक होने पर नहर का पानी बंद कराया। बुधवार को रेखा दोहरे की लाश मिल गई है। हत्या होने की आशंका है उसके बेटे की तलाश जारी है।
मयंक अवस्थी, पुलिस अधीक्षक, दतिया

संजय तोमर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned