दिवाली के बाद हो पाएगी समर्थन मूल्य पर मूंगफली की खरीद

दिवाली के बाद हो पाएगी समर्थन मूल्य पर मूंगफली की खरीद
दिवाली के बाद हो पाएगी समर्थन मूल्य पर मूंगफली की खरीद

Gaurav Kumar Khandelwal | Updated: 12 Oct 2019, 08:39:15 AM (IST) Dausa, Dausa, Rajasthan, India

After Diwali, groundnut procurement will be possible on support price: किसानों को समर्थन मूल्य में देरी से मण्डी व स्थानीय व्यापारियों को बेचनी पड़ रही है मूंगफली

दौसा. सरकार समर्थन मूल्य पर मूंगफली तो खरीदेगी, लेकिन दीवाली बाद। जबकि मण्डियों एवं बाजार में अब से ही मूंगफली की बम्पर आवक हो रही है। समर्थन मूल्य पर मूंगफली बेचने वाले किसान 15 अक्टूबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना तो शुरू कर देंगे, सरकार करीब 7 नवम्बर के आस-पास खरीदारी करेगी। जबकि किसानों को दीपावली पर रुपयों की जरूरत होती है।

After Diwali, groundnut procurement will be possible on support price

सस्ती बेचो या फिर लो कर्ज


सरकार सिर्फ मूंगफली की फसल की समर्थन मूल्य पर खरीदारी करेगी वह भी नवम्बर के दूसरे सप्ताह में। जबकि पचवारा इलाके में मूंगफली की खुदाई व कटाई का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। जिले में सर्वाधिक मंूगफली की बिक्री लालसोट मण्डी में होती है। यहां प्रतिदिन करीब 10 हजार कट्टे मूंगफली की आवक हो रही है।

दौसा मण्डी में भी मूंगफली की आवक होना शुरू हो गया है। लेकिन समर्थन मूल्य पर मूंगफलियों की खरीद शुरू नहीं होने से किसानों को या तो गांवों में ही छोटे व्यापारियों को औने-पौने दामों पर ही बेचनी पड़ रही है या फिर मण्डियों में बेचना पड़ रहा है। मण्डियों में भी उनको उचित दाम नहीं मिल रहे हैं। जबकि किसान अब रबी की बुवाई में जुट गया है। कई किसानों ने सरसों की बुवाई कर दी। चने की बुवाई के लिए भी किसानों ने खेतों को सुधारना शुरू कर दिया है। दीपावली पर रुपयों की जरूरत के लिए किसान अपने पसीने की गाड़ी कमाई को औने-पौने दामों में बेच रहा है।

पचवारा में हुई मूंगफली की बम्पर पैदावार


इस वर्ष पचवारा (नांगलराजावतान, रामगढ़पचवारा व लालसोट) इलाके में किसानों के खेतों मूंगफली की बम्पर पैदावार हुई है। किसानों ने मानसून की अच्छी बारिश होने के कारण अधिकांश खेतों में मूंगफली की बुवाई की थी। किसान गंगासहाय, शम्भूदयाल छारेड़ा ने बताया कि इस वर्ष मंूगफली की अच्छी पैदावार हुई है, लेकिन बाजार में भाव नहीं मिल रहे हैं। यदि हाल ही में मंूगफली की समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू हो जाती तो उनको बुवाई के लिए कर्ज उधार नहीं लेना पड़ेगा।

यहां-यहां खुलते हैं खरीद केन्द्र


सरकार जिले में पांच स्थानों पर मूंगफली खरीद केन्द्र खोलती है। इनमें दौसा, लालसोट, बांदीकुई, महुवा व मण्डावरी में खरीद केन्द्र खोलती है। दौसा क्रय विक्रय समिति प्रबंधक रविकांत मीना ने बताया कि अभी ऑनलाइन रजिस्टे्रश प्रक्रिया 15 अक्टूबर से शुरू होने की सम्भावना है, लेकिन खरीदारी तो नवम्बर में ही शुरू होगी।


रबी में सरसों का नहीं खरीदा दाना


पिछले सीजन में रबी की फसलों के गेहूं, चना व सरसों की खरीद के निर्देश थे, लेकिन सरसों की खरीद तो जिले में हुई ही नहीं। ऐसे में सरसों को किसानों ने स्थानीय व्यापारी या फिर मण्डियों में औने-पौने दामों में ही बेचनी पड़ी। दौसा जिला मुख्यालय पर गेहूं खरीद के सेंटर नहीं रख कर उसको लवाण कर दिया। इससे अधिकांश किसान लवाण गेहूं बेचने गए ही नहीं।


अभी तो गाइडलाइन ही नहीं आई


अभी तक तो इस वर्ष मूंगफली की खरीदादारी की गाइड लाइन ही नहीं आई है, लेकिन 15 अक्टूबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेश शुरू होने की सम्भावना है, खरीददारी तो नवम्बर में ही शुरू होगी।
- आरके मीना, रजिस्ट्रार सहकारी समिति दौसा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned