विवाहिता की हत्या कर शव गड्ढ़े में दबाया

After killing the married woman, the dead body pressed- पति को हिरासत में लिया

By: gaurav khandelwal

Published: 05 Sep 2020, 08:28 PM IST

महुवा. थाना इलाके के रामगढ़ रोड निवासी एक विवाहिता की हत्या का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने महिला के शव को बालाहेड़ा के समीप जंगल में गड्ढ़े से बरामद किया। थाना प्रभारी करणसिंह राठौड़ ने बताया कि शनिवार सुबह रामगढ़ रोड निवासी मकान मालिक रामखिलाड़ी ने सूचना दी कि उसके मकान में किराए से रहने वाले विजय सैनी निवासी सीत के कमरे से बदबू आ रही है। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कमरे का ताला तोडकऱ देखा तो अंदर खून बिखरा पड़ा था।

After killing the married woman, the dead body pressed

इस दौरान मकान मालिक ने उन्हें बताया कि विजय सैनी व उसकी पत्नी दुर्गा उर्फ गीता निवासी दौसा यहां पर करीब 8 महीने से किराए पर रह रहे है। दोनों का प्रेम विवाह हुआ था। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली कि बालाहेड़ा गांव के समीप जंगलों में एक शव दबा पड़ा है। उसका हाथ बाहर निकल रहा है। पुलिस ने एफएसएल टीम के साथ मौके पर पहुंचकर शव को गड्ढ़े से बाहर निकालकर महुवा सामुदायिक अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। शव की शिनाख्त दुर्गा उर्फ गीता सैनी निवासी दौसा के रूप में हुई। इसके बाद पुलिस ने परिजनों को घटना की सूचना दी।


डीएसपी शंकर लाल मीणा ने बताया कि विवाहिता की हत्या के मामले में मृतका के पति विजय सिंह को हिरासत में लिया है। पति से पूछताछ की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

तीन दिन पहले गला दबाकर की हत्या


महुवा थाना प्रभारी ने बताया कि 2 सितंबर की रात को 12 बजे पति-पत्नी में झगड़ा हुआ था। इस दौरान पति ने पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी तथा मौत को छुपाने के लिए आरोपी विजय कमरे का ताला लगाकर फरार हो गया। बाद में वह अकेला ही आता-जाता रहा है। इस दौरान मकान मालिक ने उसकी पत्नी को नहीं देखा। शुक्रवार रात करीब 12 बजे विजय अपनी मां धनबाई के साथ वापस मकान पर आया। जहां उसने मकान का मुख्य दरवाजा खटखटाया। इसके बाद मकान मालिक के बेटे ने मकान का मुख्य दरवाजा खोला और दोनों मां-बेटे एक बोरे में कुछ सामान लेकर गाड़ी में रखकर वहां से चले गए। संभवत: बोरे में मृतका की लाश थी।

इसके बाद विजय ने अपनी मां को गांव सीत छोड़ दिया तथा रात्रि करीब 3 बजे मृतका को बालाहेड़ा के जंगलों में जाकर गड्ढ़े में दबा दिया। मृतका के भाई सुरेश सैनी निवासी जड़ाव फाटक दौसा ने बताया कि गीता की शादी वर्ष 2000 में राजगढ़ में हुई थी, लेकिन आपसी मनमुटाव के चलते वह वहां नहीं रहती थी। करीब 10 माह पहले विजयसिंह के साथ रहने की सूचना मिली। उन्होंने बताया कि गीता के पहले के दो बच्चे भी हैं।

दहेज प्रताडऩा के मामले में जा चुका है जेल
थाना प्रभारी करण सिंह राठौड़ ने बताया कि आरोपी विजय सैनी पर 2011 में दहेज प्रताडऩा का मामला दर्ज हुआ था। इस पर आरोपी विजय सैनी व उसकी मां धनबाई तथा उसका पिता जेल भी जा चुका है।

After killing the married woman, the dead body pressed

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned