Video: सड़क हादसे में सात की मौत के बाद अब चेता पुलिस-प्रशासन, हाईवे निर्माण कंपनी को चेताया

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अब लापरवाही नजर आई तो दर्ज होगा मुकदमा

By: gaurav khandelwal

Published: 11 Dec 2017, 09:21 AM IST

दौसा. सिकंदरा. राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित भाण्डारेज मोड़ के समीप दर्दनाक सड़क हादसेे के बाद पुलिस अधीक्षक योगेश यादव के साथ कई पुलिस अधिकारी मौके पहुंचे। उन्होंने हाईवे निर्माण कम्पनी के अधिकारियों को चेतावनी दी कि अब ऐसी लापरवाही बरती गई तो मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। एसपी ने निर्माण कम्पनी के अधिकारियों को निर्माण के दौरान सड़क बंद करने की लम्बाई 1800 मीटर से अधिक नहीं करने की हिदायत दी। साथ ही निर्माण के समय पुलिस जाप्ता मुहैया कराने का भी आश्वासन दिया।

 


इस दौरान एएसपी सुरेन्द्र सिंह, सीओ सिटी जीवप्रकाश जोशी, सदर थाना प्रभारी रामसिंह यादव, हाइवे टोल कम्पनी की जीएम वसुंधरा राव, एनएच के प्रोजेक्ट निदेशक आदि मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि शनिवार को दौसा से एक जीप सिकंदरा की तरफ सवारियां लेकर जा रही थी। भाण्डारेज मोड़ के समीप सिकंदरा की ओर से जा रहे टैंकर से भिड़ंत हो गई। इसमें सात लोगों की मौत हो गई थी, वहीं आधा दर्जन से अधिक लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए थे।

 


दो पार्ट में की जाएगी सड़क बंद
पुलिस अधिकारियों ने हाईवे निर्माण कम्पनी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्माण के दौरान सड़क को बंद करते समय दो पार्ट बनाए जाएंगे, ताकि हादसा होने की सम्भावना नहीं रहे। एएसपी ने बताया कि निर्माण कम्पनी ने बिना अनुमति के ही दौसा बायपास से भाण्डारेज मोड़ तक करीब 7 किलोमीटर तक जाम लगा रखा था। इसमें वाहन आड़े-तिरछे फंसते जा रहे थे।

 

रविवार को कम्पनी ने सड़क पर कोण व बेरिकेड्स भी लगवा दिए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि निर्माण कम्पनी प्रतिनिधियों को निर्देश दिए हैं कि वे जब भी वनवे करें तो इसकी सूचना पुलिस थाने में देंगे, ताकि जाप्ता उस वक्त वहां भेजा जाए। कम्पनी के कर्मचारियों की एक गाड़ी यातायात व्यवस्था सुचारू करने में कार्य करें।

 


टैंकर चालक का अभी नहीं चला पता
भाण्डारेज मोड़ पर जिस टैंकर ने जीप को टक्कर मारी थी, उसका चालक मौके पर ही टैंकर को छोड़ कर फरार हो गया था। उसका अभी तक पता नहीं चल पाया है। थाना प्रभारी रामसिंह यादव ने बताया कि टैंकर को जब्त कर लिया, लेकिन अभी तक चालक गिरफ्तार नहीं हो पाया है। इधर हादसे में जिन मां-बेटे की मौत हुई थी, उनके परिजनों ने मामला दर्ज कराया है।

 


स्टैण्डों से जीप गायब
भाण्डारेज मोड़ के समीप सड़क हादसा होने के बाद रविवार को जिला मुख्यालय स्थित आगरा रोड, चुंगी व सैंथल मोड़ पर एक भी जीप नजर नहीं आई। जीप चालक भी सवारियां भर कर अन्य रास्तों से ले जा रहे थे। इधर, एसपी के निर्देश के बाद जिले की सभी थाना पुलिस ने ओवरलोड व नियम विरुद्ध संचालित वाहनों पर कार्रवाई की।

 

 

बगलें झांकने लगे
भाण्डारेज मोड़ पर पुलिस अधीक्षक ने निर्माण कम्पनी को यातायात आवागमन को सुचारू रखने के लिए कोण व बेरिकेड्स की जानकारी ली। कम्पनी के अधिकारियों से पूछा कि क्या कंपनी द्वारा शनिवार को एक साथ इतना लम्बा एक लेन में यातायात करना एनएचआई के नियमानुसार है। इस पर कंपनी के अधिकारी बगलें झांकने लगे। सदर थाना प्रभारी रामसिंह यादव ने एसपी को बताया कि पूर्व में हुई दुर्घटना व यातायात सुरक्षा को लेकर कुछ दिन पहले ही कंपनी अधिकारियों को अवगत करा दिया गया, लेकिन ध्यान नहीं दिया। इस पर एसपी ने उन्हें लताड़ लगाई। कंपनी अधिकारियों ने दो दिसम्बर से दौसा बायपास से खेड़ली मोड़ तक मरम्मत कार्य को लेकर हाईवे को एकतरफ से बंद किया हुआ था।

 

 

मृतक की हुई शिनाख्त
भाण्डारेज मोड़ पर हुए सड़क हादसे में मरे अज्ञात युवक की शिनाख्त रविवार को पांचोली निवासी मृतक हरकेश (22) पुत्र गोकुल गुर्जर के रूप में हुई है। पांच घायल जो जिला अस्पताल में भर्ती थे, उनमें से एक तो छुट्टी करा ले गया। अन्य जिला अस्पताल में भर्ती है। इस हादसे में सात जनों की मौत हुई थी।

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned