बांदीकुई नगरपालिका : अभी भी शुरू नहीं हुई वसूली की प्रक्रिया

Bandikui municipality: recovery process still not started.... प्रतिमाह लग रहा है लाखों का चूना

By: Rajendra Jain

Published: 27 Nov 2019, 02:15 PM IST

दौसा. बांदीकुई नगरपालिका प्रशासन यूजर चार्ज वसूलने में विफल साबित हो रही है। इससे पालिका को औसतन प्रतिमाह 8 से 10 लाख रुपए का चूना लग रहा है। इसके बाद भी पालिका प्रशासन आंखें मूंदकर बैठा हुआ है।
पालिका की ओर से शहर में करीब 8 से 10 करोड़ रुपए सडक़ व नालियों पर खर्च कर दिए। वहीं सुलभ कॉम्पलैक्स, शौचालय, सफाई व्यवस्था से जुड़े टैम्पो, कचरा पात्र एवं अन्य सुविधाओं पर करीब तीन करोड़ रुपए से अधिक राशि खर्च की जा चुकी है। इसके बावजूद विकास के लिए बजट की कमी होने पर सरकार ने राज्य की सभी नगरपालिकाओं को यूजर चार्जेज वसूलने के निर्देश दिए थे।

यह जून 2019 से वसूला जाना तय था। पालिका क्षेत्र में स्थित व्यावसायिक प्रतिष्ठान (दुकान), कोचिंग सहित अन्य संस्था व आवासों का सर्वे कर चिह्नित कर उनसे प्रतिमाह राशि वसूली जानी थी, लेकिन छह माह बीत जाने के बाद अभी तक पालिका ने सर्वे तक कराना मुनासिब नहीं समझा। पालिका के मुताबिक शहरी क्षेत्र में औसतन करीब 10 हजार से अधिक आवास एवं करीब चार हजार दुकानें हैं। इसमें आवासों से 40 रुपए एवं दुकानों से 150 रुपए प्रतिमाह यूजर चार्जेज के नाम पर वसूला जाना तय है। इस हिसाब से यदि यूजर चार्जेज वसूला जाता है तो पालिका को एक माह की राजस्व आय 8 से 10 लाख रुपए हो सकती है। शहर के विकास को भी गति मिल सकती है, लेकिन इन दिनों पालिका प्रशासन के साथ अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। यह स्थिति अकेले बांदीकुई नगरपालिका की नहीं है। महुवा सहित अन्य नगरपालिकाओं में भी यहीं स्थिति बनी हुई है। महुवा में पालिका ने करीब 7600 आवास एवं 2200 दुकानें चिह्नित की है, लेकिन यहां भी पालिका पूरी तरह वसूली कर नहीं पा रही।

अनजान बनी है पालिका
नगरपालिका कार्यालय में कार्यरत अधिकांश कार्मिक यूजर चार्जेज वसूले जाने के आदेश के बारे में अनजान बने हुए हैं। सुबह स्वास्थ्य निरीक्षक से सर्वे व यूजर चार्जेज के बारे में पूछा तो अनभिज्ञता जताई। उन्होंने कहा कि ये आदेश मेरे आने से पहले के होंगे। यदि फिर भी ऐसा है तो जांच कराकर कार्रवाई करेंगे। सूत्रों का कहना है कि यूजर चार्जेज वसूले जाने का मुख्य उद्देश्य आमजन में भी जागरुकता लाना है। यह राशि पालिका की ओर से आमजन को सुविधा मुहैया कराने व आय बढ़ाकर विकास कार्यों में इजाफा करने के लिए वसूली जानी है।


जरूरी नहीं है
जरूरी नहीं है कि यूजर चार्जेज लागू ही किया जाए। इसके लिए पहले पालिका बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव लिया जाएगा। इसके बाद चरणबद्ध तरीके से वसूली की जाएगी। पहले व्यावसायिक प्रतिष्ठान व संस्थानों का सर्वे किया जाएगा। इसके बाद आवासों का सर्वे कर वसूली की कार्रवाई होगी। इसके लिए बोर्ड की सहमति होने के बाद ही कार्रवाई की गति दी जाएगी।
बीएल मीणा, अधिशासी अधिकारी नगरपालिका बांदीकुई

लागू किया जाना आवश्यक
राज्य सरकार के आदेशानुसार यूजर चार्जेज वसूलना आवश्यक है। इसमें बोर्ड बैठक की सहमति जरूरी नहीं है। महुवा में तो सर्वे कर राशि वसूलना भी शुरू कर दिया है। करीब तीन लाख रुपए से अधिक राशि वसूली जा
चुकी है।
तेजाराम मीणा, अधिशासी अधिकारी नगरपालिका महुवा

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned