दौसा के श्याम मन्दिर में भागवत कथा 10 से

दौसा के श्याम मन्दिर में भागवत कथा 10 से

Rajendra Kumar Jain | Publish: May, 18 2018 10:29:06 AM (IST) Dausa, Rajasthan, India

गणेशजी को दिया निमंत्रण

दौसा . श्याम मन्दिर चरणधाम में 10 से 16 जून तक आयोजित होने वाली श्रीमद्भागवत कथा के निर्विघ्न सम्पन्न होने के लिए लिए गुरुवार को गणेशजी को निमंत्रण दिया गया। इस दौरान श्रद्धालु श्याम मंदिर से रवाना होकर विभिन्न मार्गों से होते हुए सब्जी मण्डी स्थित सिद्धि विनायक मन्दिर में पहुंचे। जहां विशेष पूजा-अर्चना कर न्यौता दिया गया। श्रीश्याम अर्चना सेवा समिति के राजेश ठाकुरिया ने बताया कि वृंदावनधाम की कृष्णप्रिया कथा सुनाएगी। इस मौके पर द्वारकाप्रसाद पीतलिया, रोशनलाल झंगीणिया, नरेन्द्र बिंवाल, माधोलाल, चन्द्रप्रकाश चौधरी, धनश्याम खूंटेटा, राजेश, सतीश माली, ओमप्रकाश नाटाणी, योगेश, विजय मित्तल, राजबहादुर शर्मा, कृष्णावतार सामरिया आदि मौजूद थे।


कलश यात्रा निकाली
गीजगढ़. ग्राम पाड़ली बाढ़ मे भक्ति भागवत सेवा संस्थान के तत्वाधान में एकादश श्रीमद्भागवत् कथा व श्रीगोपाल महायज्ञ के शुभारम्भ पर कलश यात्रा निकाली गई। इसमें महिलाएं सिर पर मंगल कलश रख भजन गाती व पुरुष श्रद्धालु बैण्डबाजों के आगे नाचते-गाते आगे बढ़ रहे थे। यात्रा रामगढ़ के भोमिया महराज देव स्थान से शुरू होकर कथा स्थल पहुंची।ग्रामीणों ने अल्पाहार व पुष्पवर्षा के साथ स्वागत किया किया। आचार्य राहुल द्विवेदी ने बताया कि कथा के तहत प्रतिदिन सिकराय, गीजगढ़, कालवान, बादीकुई, अचलपुरा, सिकन्दरा में प्रभात फेरी निकाली जाएगी।कथा समापन पर गौशाला निर्माणाधीन भूमि पूजन व पूर्णाहुति व भण्डारे का आयेाजन होगा। कथा के पहले दिन आनन्दकृष्ण ठाकुर ने प्रवचन में भागवत कथा श्रवण का महत्व बताया ।इसी प्रकार बहरावण्डा के ओकारेश्वर महादेव मन्दिर बाई का बाग में श्रीमद्भागवत् कथा की शुरुआत पर कलश यात्रा निकाली गई। इसमें महिलाएं सिर पर मंगल कलश रख भजन गाती व पुरुष श्रद्धालु नाचते-गाते आगे बढ़ रहे थे। यात्रा मुख्य बाजार केे जगदीश मन्दिर से शुरू होकर कथा स्थल पहुंची। ग्रामीणों ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।सरपंच मुकेश नायक, पूर्व प्रधान लटूरमल सैनी, रूपनारायण गुप्ता, रंगलाल मीणा, मिटठूलाल, रतनलाल सैनी आदि मौजूद थे।

 

सत्संग में गुरु की महिमा का किया बखान
गोलाड़ा (बांदीकुई). ग्राम गोलाड़ा के बाबा का बास में चल रहे दो दिवसीय सत्संग समारोह का समापन गुरुवार को हुआ। समारोह की अध्यक्षता संत ओम चैतन्य गिरधरपुरा ने की। उन्होंने कहा कि गुरू के बिना जीवन अधूरा है। स्वामी राधिकानंद कलाड़ा आश्रम आगरा , संत दिव्यानंद सरस्वती गणेश मंदिर, सुरेशानंद धोलपुर, धर्मानंद कैलाई एवं साध्वी मीराबाई मेहंदीपुर बालाजी ने सत्संग की महिमा के बारे में बताया। इस दौरान पंगत लगाकर प्रसादी ग्रहण की। इस मौके पर रामकरण सैनी, हरिराम सैनी, मुकेश सैनी, फूल्याराम, रामधन, कन्हैयालाल, नाथूलाल एवं रामहेत आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned