कलश यात्रा से भागवत कथा ज्ञानयज्ञ का आगाज

Rajendra Kumar Jain

Publish: Jun, 20 2019 03:20:09 PM (IST)

Dausa, Dausa, Rajasthan, India

दौसा. ग्राम पंचायत खवारावजी क्षेत्र के मोरोली बालाजी मंदिर में श्रीमद् भागवत कथा ज्ञानयज्ञ की शुरुआत बुधवार को कलशयात्रा से हुई। 551 कलशों की यात्रा सर्र गांव के चौराहा गणेश मंदिर होती हुई मुख्य मुख्य मार्गों से होती हुई कथा स्थल तक पहुंची। ग्रामीणों ने जगह-जगह पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। संत रामसुमिरन दास ने कथा श्रवण का महत्व बताया इस अवसर पर मुरारीलाल शर्मा, ओमप्रकाश सहित काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।


बसवा. कस्बे के पास करनावर गांव में उर्सारा की ढाणी में श्रीमद्भागवत कथा व शिव प्राण प्रतिष्ठा को लेकर निकाली कलश यात्रा में लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा। बुधवार सुबह बालाजी मंदिर से कलश यात्रा प्रारम्भ हुई। महिलाएं भजनों पर नाचते गाते तो पुरुष श्रद्धालु जयघोष लगाते चल रहे थे। कई जगह शर्बत पिलाकर व पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। भगवानसहाय ठेकेदार, जगदीश डीलर, गोपीराम, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष नादानसिंह मीणा, सुखराम, संजय आदि मौजूद थे।


लालसोट. जगनेर गांव के रायमल बाबा मंदिर पर बुधवार से संगीतमय श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ केे आयोजन की शुरुआत हुई। सुबह गाजे बाजे के साथ कलश यात्रा निकाली गई। यात्रा गांव के सभी प्रमुख मार्गो से गुजरी। जगह-जगह स्वागत किया गया। कथा वाचक पं. दिवाकर शास्त्री ने कहा कि भागवत कथा को श्रवण मात्र से मानव के सभी दुखों का निवारण संभव है। सत्यनारायण शर्मा, ओमप्रकाश शर्मा, रतनलाल शर्मा समेत कई जने भी मौजूद थे। आयोजन 25 जून तक जारी रहेगा। (नि.प्र.)
बांदीकुई. शहर के आशापुरा में श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ के पहले दिन बुधवार को कलश यात्रा निकाली गई। सुबह सर्वेश्वर महादेव मंदिर से उप तहसील मार्ग से होते हुए कथा स्थल पर पहुंची। महिलाएं विभिन्न परिधानों में सजधज कर मंगल गीत गाते हुए गुजरी। पुरुष हाथों में ध्वज लेकर जयघोष लगाते हुए चल रहे थे। भक्तिसंगीत की धुनों से समूचा वातावरण भक्तिमय हो गया। यात्रा का कई जगह पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। आचार्य राजेश्वरानंद सरस्वती ने कहा कि भागवत कथा के श्रवण से पापों का नाश होता है और मनुष्य सद्मार्ग की ओर अग्रसर होता है। पवन गुर्जर ने बताया कि गुरुवार को धु्रव चरित्र, प्रहलाद चरित्र, 21 जून को गजेन्द्र मोक्ष, बलिवामन चरित्र, 22 जून को राम व कृष्ण जन्मोत्सव का प्रसंग सुनाया जाएगा। इस मौके पर विजयसिंह, हरिसिंह, रामलाल, लक्ष्मण, रामबल, अमरसिह, कमलसिंह, आजाद, कुलदीपसिंह, कमलेश, पार्षद मदनलाल माल, बाबूसिंह गुर्जर एवं महेन्द्र सिददू भी मौजूद थे। (नि.स.)

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned