बोरवेल खराब, पीपलखेड़ा में पेयजल संकट

आंदोलन की चेतावनी

By: Rajendra Jain

Updated: 29 Mar 2019, 11:59 AM IST

खेड़ला . महुवा उपखण्ड के गांव पीपलखेड़ा में ग्रामीणों को जलदाय विभाग की अनदेखी के चलते करीब 1 महीने से पीने के पानी की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। जलदाय विभाग ने इस गांव में राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे दो सरकारी ट्यूबवेल खोद रखे हैं । पूरे गांव में पाइप लाइन बिछाकर पीने के पानी की सप्लाई की जाती है, जो करीब एक महीने से खराब हैं।
इससे गुर्जर बस्ती, सरकारी स्कूल, बैरवा बस्ती, रैगर बस्ती सहित करीब गांव में पीने का पानी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। लोगों को इस गर्मी के मौसम में पीने के पानी की जुगत में राष्ट्रीय राजमार्ग को दिन में कई बार पार करना पड़ता है। इससे दुर्घटना का अंदेशा भी बना रहता है। वहीं ग्रामीण बलवीर गुर्जर का कहना है कि मवेशियों के लिए पीने लिए पानी टैंकरों से मंगवाना पड़ रहा है। जलदाय विभाग के अधिकारियों को बार बार अवगत कराने के बाद इन ट्यूबबेलों को ठीक नहीं किया जा रहा है। इससे ग्रामीणों में भारी रोष है और उन्होंने 7 दिन में ट्यूबवेल सही नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी है।
इस सम्बन्ध में जलदाय विभाग के अधिशाषी अभियंता केसी मीणा ने बताया कि उनको कुछ दिन पहले ही पीपलखेड़ा में खराब जलदाय ट्यूबवेलोंं की जानकारी मिली है। इनको एक-दो दिन में शीघ्र ठीक करवा कर संचालित किया जाएगा।
विभाग की लापरवाही से नहीं मिल रहा पानी:
क्षेत्र के बालाहेड़ी कस्बे में लोगों को पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि यहां पर जलदाय विभाग की लापरवाही से लोगों को समय पर पानी नहीं मिल रहा है।

आंगनबाड़ी केंद्र बंद मिले
लालसोट. महिला व बाल विकास विभाग के उप निदेशक ओमप्रकाश वशिष्ठ ने गुरुवार को क्षेत्र के आंगनबाड़ी केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान बिनोरी व टोडाठेकला प्रथम आंगनबाड़ी केंद्र बंद मिले और नगरियावास, शाहपुरा, भैरुवास, मलवास, टोडाठेकला व डिडवाना के आंगनबाड़ी केंद्रों पर रिकॉर्ड संधारण नहीं मिला व कार्यकर्ता भी निर्धारित ड्रेस में नहीं मिली। इसके अलावा भैंरुवास व मलवास आंगनबाड़ी केंद्रों पर पोषाहार भी गुणवत्ता पूर्वक नहीं मिला। वशिष्ठ ने बताया कि निरीक्षण के दौरान सभी कार्मिकों को सुधार के निर्देश तथा संबंधित कार्यकर्ता व महिला पर्यवेक्षक को कारण बताओ नोटिस भी जारी किए गए।(नि.प्र.)

किया निरीक्षण
महुवा. विकास अधिकारी समयसिंह मीना एवं आवास प्रभारी अधिकारी जगराम मीना ने ग्राम पंचायत सांथा एवं पलानहेड़ा में पीएमजेएसवाई के तहत स्वीकृत लाभार्थियों के आवासों का निरीक्षण किया।
निरीक्षण में अनेक आवास अपूर्ण पाए गए। लाभर्थियों को 31 मार्च तक आवास पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि आवास पूर्ण नहीं कराने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी। ( ग्रामीण)

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned