ब्रिटिशकालीन चर्च में तोडफ़ोड़:दोषियों को नहीं बख्शेंगे

ब्रिटिशकालीन चर्च में तोडफ़ोड़:दोषियों को नहीं बख्शेंगे

Rajendra Jain | Publish: Jul, 14 2018 11:02:01 AM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 11:02:02 AM (IST) Dausa, Rajasthan, India

अल्पसंख्यक आयोग सदस्य लिलियम ग्रेस ने लिया जायजा

बांदीकुई.

शहर के रेलवे कॉलोनी स्थित सेंट जोंस दी बेपटिस्ट प्रोटेस्टेंट चर्च में गत दिनों हुई तोडफ़ोड़ के मामले में शिकायत पर शुक्रवार को अल्पसंख्यक आयोग सदस्य लिलियम ग्रेस ने मौके पर पहुंच वस्तुस्थिति का जायजा लिया। उन्होंने थाना पुलिस से मामले की जांच कर घटना में लिप्त लोगों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की बात कही।
उन्होंने कहा कि यदि पुलिस मामले में ढिलाई बरतती है तो इस मामले में मुख्यमंत्री से बात की जाएगी। कुछ समाजकंटक इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम देकर सरकार को बदनाम करना चाहते हैं, लेकिन उनके मंसूबे किसी भी सूरत में सफल नहीं होने दिए जाएंगे। यह चर्च आस्था का केन्द्र हैं। उन्होंने कहा कि इस चर्च को विकसित किए जाने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए सरकार के स्तर पर बजट मुहैया कराया जाएगा। खास बात यह है कि ब्रिटिशकालीन समय में बने इस प्रोस्टेंट चर्च से सभी धर्मों के लोग जुड़े हुए हैं। इस चर्च का गत 24 जून 2018 को कुछ लोगों ने मुख्य दरवाजा, डाइस एवं डेढ़ सौ वर्ष पुराना फर्नीचर एवं कैंडल जलाने वाला स्थान क्षतिग्रस्त कर दिया।

इस सम्बंध में संस्था की ऋचा विलियम ने थाने में परिवाद भी दिया, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। गत करीब 37 वर्ष से यह चर्च बंद था और दिसम्बर 2017 में ही खोलकर प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया।

इस मौके पर अल्पसंख्यक कल्याण बोर्ड अधिकारी घनश्याम शर्मा, थाना प्रभारी कर्णसिंह राठौड़ एवं शीला विलियम ने भी अल्पसंख्यक आयोग सदस्य को चर्च के इतिहास के बारे में जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि रेलवे कॉलोनी में प्रोटेस्टें एवं कैथालिक सहित दो चर्च हैं।

 

छात्राओं से अभद्रता करने वाले प्रधानाध्यापक को लगाया बाड़मेर
बांदीकुई. राजकीय बालिका सैकण्डरी स्कूल लोटवाड़ा में छात्राओं द्वारा मुख्य द्वार के ताला लगाकर विरोध प्रदर्शन करने के मामले में माध्यमिक शिक्षा विभाग निदेशक नथमल डिडेल ने कार्यरत प्रधानाध्यापक बलराम मीणा का तबादला डिडवाना बाड़मेर कर दिया है। उल्लेखनीय है कि गत 10 जुलाई 2018 को विद्यालय की छात्राओं द्वारा प्रधानाध्यापक पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कक्षाओं का बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन किया। इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी ओमप्रकाश शर्मा व एडीईओ मनीषा शर्मा ने मौके पर पहुंच छात्राओं, शिक्षक एवं ग्रामीणों के बयान लेकर वस्तुस्थिति से उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया। इससे पहले भी इस विद्यालय में प्रधानाध्यापक एवं शिक्षकों के बीच विवाद हो चुका है।

बिना खुदाई बना दी सड़क
नांगल राजावतान. उपखण्ड मुख्यालय पर गौरवपथ निर्माण के दौरान पुरानी सड़क की बिना खुदाई ही सीसी सड़क बनाने पर कई मकानों में बारिश का पानी भर गया। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क निर्माण के दौरान सअधिकारियों से पुरानी सडक की खुदाई कर सड़क बनाने की मांग कर विरोध किया था, लेकिन बिना खुदाई के ही सड़क बना दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned