शिक्षा व शिक्षकों के मुद्दों पर मंथन कर बनाए प्रस्ताव

gaurav khandelwal

Publish: Sep, 16 2017 09:08:32 (IST)

Dausa, Rajasthan, India
शिक्षा व शिक्षकों के मुद्दों पर मंथन कर बनाए प्रस्ताव

दौसा में दो दिवसीय जिला स्तरीय शिक्षक सम्मेलनों का समापन

दौसा. शिक्षक संगठनों के दो दिवसीय जिला स्तरीय शिक्षक सम्मेलनों का समापन शनिवार को हुआ। अंतिम दिन संगठनों ने विभिन्न मुद्दों पर मंथन कर मांग पत्र तैयार किए।संगठन के उच्च स्तर पर भेजने के लिए प्रस्ताव पारित किए। कई संगठनों की कार्यकारिणी के चुनाव भी हुए।


अम्बेडकर शिक्षक संघ के सम्मेलन में 10 सूत्री प्रस्ताव पारित किया गया। प्रदेश मंत्री लक्ष्मणप्रसाद बैरवा ने बताया कि पदोन्नति, वेतन आयोग, पीपीपी मोड का विरोध, एससी के लिए भी स्कूटी योजना, बैकलॉग पूरा करने सहित अन्य प्रस्ताव पारित किए। जिलाध्यक्ष बनवारीलाल अलूरिया, महामंत्री बनवारीलाल महावर, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष धन्नालाल बैरवा व कोषाध्यक्ष रंगलाल बैरवा को मनोनीत किया गया। दौसा ब्लॉक अध्यक्ष रामावतार महावर, महामंत्री रामस्वरूप बैरवा, उपाध्यक्ष राजेन्द्रप्रसाद सांवरिया व कोषाध्यक्ष छगनलाल अटल को बनाया गया।


शिक्षक संघ प्रगतिशील के सम्मेेलन में का समापन सभाध्यक्ष रामदयाल शर्मा व जिलाध्यक्ष राकेश नागर की मौजूदगी में हुआ। संयोजक बंसतीलाल गुर्जर व सह संयोजक दीपक गहलोत ने बताया कि शिक्षा, शिक्षक व शिक्षार्थी के हित में प्रस्ताव पारित कर प्रदेश कार्यकारिणी भेजे गए। मर्ज विद्यालय खोलने, समय वृद्धि वापस लेने, प्री-प्राइमरी कक्षा शुरू करने सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा की गई। इस दौरान अखिलेश शर्मा, भरतसिंह गुर्जर, कमलेश मीना, राघवेन्द्र सिंह, मनोहरलाल आदि मौजूद थे।


आरपीएससी शिक्षक फोरम के सम्मेलन में जिला संयोजक कैलाश शर्मा ने कहा कि सरकारी स्कूलों की उपलब्धियों का प्रचार-प्रसार किया जाए। जिलाध्यक्ष प्रहलाद फाटक्या ने बताया कि पांच सूत्री मांग प्रबोधकों का पदनाम अध्यापक कर लेवल तय करने, 2012 व 15 में नियुक्त शिक्षकों का स्थाईकरण, रिक्त पद भरने, वरिष्ठता सूची का अपडेशन आदि पर चर्चा हुई। इस दौरान अभय सक्सेना, कमल बीगास, विनोद मीना, प्रणव शर्मा, जगराम, दिलीप शर्मा, शिवसागर, भंवर राजेन्द्रसिंह, जितेन्द्र सैनी आदि थे।

 


शिक्षक संघ सियाराम के समापन सत्र में मुख्य अतिथि डॉ. बाबूलाल नापित, अध्यक्षता रामप्रकाश सारस्वत व विशिष्ट अतिथि रामनिवास मीना रहे। जिलाध्यक्ष रामभरोसी समलेटी, जिला मंत्री बाबूलाल छारेड़ा, उपाध्यक्ष रूपचंद रायपुरा, कोषाध्यक्ष भगवानसहाय सारस्वत, प्रवक्ता भूरसिंह, कार्यकारी अध्यक्ष रोहिताश शर्मा, महिला मंत्री सविता कुमारी, प्राथमिक उपाध्यक्ष दुर्गेश सिंघल सहित ब्लॉक कार्यकारिणी को चुना गया। सातवें वेतन आयोग लागू करने व पीपीपी मॉडल को बंद करने की मांग की गई।


शिक्षक संघ अरस्तु के अधिवेशन का समापन जिला मंत्री रामावतार शर्मा की अध्यक्षता में हुआ। इस दौरान निजीकरण का विरोध का प्रतिबंधित जिलों से स्थानांतरण खोलने की मांग की गई। जिला प्रवक्ता अशोक भागोती ने बताया कि छठी बार भी एनआर बालोत को जिलाध्यक्ष चुना गया। इस दौरान कार्यकारी जिलाध्यक्ष प्रेमप्रकाश उमरवाल, देवीसहाय मीना, हजारीलाल मीना, कमलेश विजय, हरिसिंह आदि मौजूद थे।

 

शिक्षक संघ शेखावत के सम्मेलन के समापन समारोह में मुख्य अतिथि रामगोपाल शर्मा व रामकरण शर्मा ने की। जिलाध्यक्ष कजोड़ मीना ने बताया कि खुला सत्र में समस्याओं के समाधान पर चर्चा की। 11 सूत्री प्रस्ताव तैयार किया गया। पीपीपी मोड का विरोध कर समयवृद्धि वापस लेने की मांग की। इस दौरान रामकरण शर्मा, उम्मेद पटेल, रामकिशोर बगड़ी, रमेशचंद, मोहम्मद अकरम, देवेन्द्र सिंह आदि मौजूद थे।


शारीरिक शिक्षा शिक्षक संघ के अधिवेशन के समापन पर जिलाध्यक्ष कमलेश त्रिवेदी ने कहा कि खेल जीवन का अभिन्न अंग है। जिला मंत्री रामवीर चौधरी ने बताया कि 11 सूत्री मांग पत्र तैयार किया गया। रिक्त पद भरने व नामांकन की शर्त नहीं लगाने आदि की मांग की। इस दौरान मक्खनलाल शर्मा, बाबूलाल मीना, राजेन्द्र शर्मा, बिहारीलाल शर्मा, गोपाल गुरु, महेश पालावास आदि थे।

 

शिक्षकों की समस्याओं पर चर्चा
महुवा
कस्बे स्थित टीकाराम पालीवाल विद्यालय में शिक्षक संघ राष्ट्रीय के अधिवेशन का समापन शनिवार को हुआ। जिला अध्यक्ष कालूराम मीणा ने बताया कि शिक्षकों की समस्याएं व हितों को लेकर विचार-विमर्श किया गया। संगठन की मजबूती व दायित्व निभाने का आह्वान किया। नवाचारों के लिए हमेशा तैयार रहने के लिए प्रेरित किया। शिक्षा के निजीकरण से होने वाली समस्याओं के बारे में भी चर्चा की गई। इस मौके पर अरविंद पालीवाल, गिर्राज सैन, राधेश्याम शर्मा, गुलाबचंद शर्मा, कैलाश चंद मीणा, हरिप्रसाद मीणा, दिनेश मित्तल आदि ने विचार व्यक्त किए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned