पौने चार करोड़ के टेण्डर निरस्त की मांग को लेकर हंगामा

पार्षदों ने लगाए भ्रष्टाचार के आरोप, नगरपालिका बोर्ड की बैठक में विकास पर चर्चा

By: gaurav khandelwal

Published: 16 May 2018, 09:29 PM IST

बांदीकुई. नगरपालिका बोर्ड की बुधवार को हुई बैठक में टेण्डरों को लेकर हंगामा हुआ। एक बार तो स्थिति ये हो गई कि पार्षद ही आपस में उलझ गए और दो भागों में बंट गए। मामला बढ़ता देख ईओ ने समझाइश कर मामला शांत किया। दोपहर करीब एक बजे नगरपालिका चेयरमैन लक्ष्मी जायसवाल की अध्यक्षता में बैठक शुरू हुई।

 

बैठक के शुरू होते ही अधिशासी अधिकारी महेश जैन करीब पौने चार करोड़ रुपए के टेण्डर कराए जाने के लिए विकास कार्य गिनाने लगा। तो पार्षदों ने उक्त विकास कार्यो में भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलने का आरोप लगाते हुए निरस्त किए जाने एवं नए सिरे से टेण्डर कराने की मांग की। टेण्डरों को लेकर पार्षद दो गुटों में बंट गए। एक गुट टेण्डर जारी कराने तो दूसरा निरस्त करने की मांग पर अड़ गया। इस पर आधा घण्टे तक हंगामा हुआ। बाद में निरस्त किए जाने के पक्ष में बहुमत होने पर प्रस्ताव लिया।

 

 

पार्षद बाबूसिंह गुर्जर ने कहा कि उनके वार्ड में फेज वायर लगे ही नहीं हैं और पालिका ने करीब पौने पांच लाख रुपए का भुगतान कर दिया। पार्षद अभयशंकर विजय व महेश यादव ने कहा कि शहर में पालिका सफाईकर्मी शौचालय एवं सुलभ कॉम्पलैक्सों की सफाई कर रहे हैं। जबकि पालिका की ओर से सीटीपीटी मशीन के नाम पर प्रत्येक माह 60 हजार रुपए का बिल भुगतान कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया जा रहा है।

 

पालिका उपाध्यक्ष मनोज पटेल ने कहा कि शहर में अधिकांश नाले अवरुद्ध पड़े हैं। पहली बारिश के होते ही सडक़ों पर पानी भराव हो जाता है। ऐसे में बारिश से पहले नालों की सफाई कराई जाए। शहर में क्षतिग्रस्त रैलिंग को हटाकर लोहे की गाटर लगाए जाने की मांग रखी। पार्षद रतनसिंह ने कहा कि शहर में सफाई व्यवस्था पूरी तरह बाधित हो रही है।

 

प्रमुख मार्ग पर कचरा बिखरा होने से सड़ांंध मारने लगे हैं। ऐसे में सफाईकर्मियों की संख्या बढ़ाई जाए। बैठक में सडक़ एवं नाली निर्माण कराए जाने से जुड़े प्रस्ताव लिए। इसके अलावा लिपिकों के कार्यालय सहायक पद पर पदोन्नति देने व सफाईकर्मियों का स्थाईकरण की मांग की।

 

पार्षद राधामोहन डंगायच ने गंगालहरी विजय के मकान से एवीएम तक, वार्ड में नाली निर्माण, गोपाल गोयल के मोहल्ले में नलकूप का निर्माण एवं सामुदायिक भवन का कार्य आदेश जारी किए जाने की मांग की। इस मौके पर पार्षद मदनलाल माल, मुकेश माल, पुष्पा डोई,महेश यादव, होशियारसिंह कर्दम, बबलू पंडित, कल्पना तिवाड़ी, ममता सैनी, सीमा चौधरी ने भी विकास कार्य कराए जाने की मांग की।

 

नलकूप व टंकियों का होगा निर्माण
पालिका बोर्ड की बैठक में पार्षदों ने कहा कि शहर पानी की समस्या से त्रस्त है। ऐसे में प्रत्येक वार्ड में एक नलकूप एवं सीमेंट की टंकियों का निर्माण कराया जाए। इस पर सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया। इसके अलावा पहले से लगे नलकूपों की मरम्मत कराने एवं बिजली के कनेक्शन कराए जाने पर भी विचार विमर्श किया गया। इससे कुछ हद तक पानी की समस्या से निजात मिल सकेगी।

 

आपस में भिड़े पार्षद
जब पौने चार करोड़ रुपए के टेण्डर निरस्त किए जाने की पार्षद मांग कर रहे थे तो पार्षद पुष्पा डोई टेण्डर कराए जाने की मांग करने लगी। इस पर पार्षद सुरेन्द्र मीणा ने कहा कि वार्डो में सडक़ एवं नालियों का निर्माण किया जाए। सरकारी भूमि पर तार फेङ्क्षसग व चारदीवारी निर्माण कराए जाने पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा। इस बात को लेकर दोनों पार्षदों के बीच कहासुनी हो गई। बाद में अन्य पार्षदों ने समझाइश कर मामला शांत किया।

 

 

ईओ व चेयरमैन हुए निरुत्तर
पार्षद पालिका कार्यालय में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर हंगामा होने के बाद पार्षदों ने पालिका प्रशासन से जवाब मांगा तो चेयरमैन लक्ष्मी जायसवाल एवं ईओ महेशचंद जैन निरुत्तर हो गए। ईओ ने कहा कि भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों की स्थानीय निकाय में जांच चल रही है। उसमें स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। जवाब दिए जाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned