कोरोना अलर्ट - लॉकडाउन के आह्वान के बाद बढ़ गई सख्ती

- चिंता बढ़ी, लेकिन सतर्कता जरूरी
- सडक़ों से निजी वाहन दिखे ना ही व्यावसायिक

दौसा. कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे से देश को उबारने के लिए 21 दिन के लॉकडाउन के बाद पुलिस व प्रशासन ने लोगों के घरों से बाहर निकलने पर सख्ती बढ़ा दी है। बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने वापस घर भेजा। वाहनों का चालान व जब्त करने की कार्रवाई की गई। हालांकि अधिकतर लोग कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे से उबरने के लिए सजग नजर आ रहे हैं। समूचे जिलेभर में लोग लॉकडाउन की पालना करते दिखे। न केवल जिला मुख्यालय बल्कि गांवों में भी बाजारों में सन्नाटा छाया रहा। सडक़ें सूनी नजर आई।

आवश्यक सामानों की दुकानों पर सुबह के समय ग्राहकों का तांता लगा। जिला मुख्यालय पर बुधवार को गांधी तिराहे, सोमनाथ चौराहा, सैंथल मोड़ कलक्ट्रेट चौराहा, चुंगी आदि स्थानों पर पुलिस ने बेरिकेड्स लगाकर लोगों के वाहनों की तलाशी ली। पुलिस की सतर्कता से लोग वापस घरों में लौट गए। जिला मुख्यालय पर अतिरिक्त जिला कलक्टर लोकेश कुमार मीना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह चौहान, दौसा पुलिस उपाधीक्षक नरेन्द्र, कोतवाली थाना प्रभारी श्रीराम मीना एवं यातायात पुलिस प्रभारी नेतराम आदि ने बिना वजह घूम रहे लोगों से शहर में आने का कारण पूछा और लोगों को घरों में ही रहने के लिए समझाया।

सडक़ों से वाहन गायब
लॉकडाउन के तहत निजी वाहनों पर भी पाबंदी लगाने के बाद सडक़ों पर बुधवार को कार व भारी वाहन गायब दिखाई दिए। जो लोग आमतौर पर लग्जरी गाडिय़ों में घूमते थे, उनमें से किसी को जरूरी काम है तो वे लोग सब्जी, किराने का सामान एवं खरीदने के लिए बाइकों से ही आवागमन करते नजर आए। लोग बाइकों या स्कूटियों पर ही रोजमर्रा की चीजों का आवश्यक सामान खरीद रहे थे।
जरूरी सामान खरीदा
जिला मुख्यालय पर बुधवार को सडक़ों पर सन्नाटा छाया रहा, केवल परचूनी व मेडिकल की दुकानों पर ही लोग नजर आए। सब्जी मण्डी में भी भीड़ नहीं देखी गई। जो लोग बाहर आ रहे थे उनमें से कई मास्क लगा कर आए तो कई लोग मुंह पर तोलिया लगा कर आए। लोग सामान खरीद कर चलते बन रहे थे।


पाली के यात्री फंसे
दौसा. मेहंदीपुरबालाजी के दर्शन करने आए पाली के करीब चालीस लोग दौसा में फंसे हुए हैं। इन लोगों के दौसा में फंसे होने की जानकारी मिलते ही बुधवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर लोकेश कुमार मीना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह चौहान, सीओ दौसा नरेन्द्र, कोतवाली थाना प्रभारी श्रीराम मीना आदि पाली के इन फंसे हुए लोगों से मिलने लालसोट रोड स्थित बंशीवाल धर्मशाला में गए। अधिकारियों ने इन लोगों को सहायता करने का आश्वासन दिया।

बुजुर्ग महिला को एम्बुलेंस से भिजवाया
दौसा. शहर के रेलवे स्टेशन से गुजर रही एक बुजुर्ग महिला को दौसा पुलिस उपाधीक्षक एवं कातवाली थाना प्रभारी ने एम्बुलेंस 108 की मदद से उसके गांव बनियाना पहुंचाया। अधिकारियों ने एम्बुलेंस चालक को महिला का जिला अस्पताल में इलाज कराकर उसको घर पहुंचाने के निर्देश दिए। महिला ने बताया कि वह रेलवे स्टेशन से गुजर रही थी, जिसके साथ आरपीएफ वालों ने मारपीट भी कर दी।

Corona virus
Rajendra Jain Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned