जिले में फिर कोरोना महाविस्फोट, अस्पताल में नहीं थम रहा मौतों का सिलसिला

दौसा ब्लॉक में अब तक के सर्वाधिक पॉजिटिव

By: Rajendra Jain

Published: 04 May 2021, 01:13 PM IST

दौसा. जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। साथ ही मौतें होने का सिलसिला भी नहीं थम रहा।
जिले में मिली रिपोर्ट के अनुसार दौसा, बांदीकुई, सिकराय व लालसोट ब्लॉक से भेजे गए 1178 जनों के सैम्पलों में से 367 जनों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इधर, जिला अस्पताल में सोमवार शाम तक बीते चौबीस घंटों में कई मौत होने की जानकारी सामने आई, लेकिन अस्पताल प्रशासन मात्र चार मौतों की ही पुष्टि कर रहा है। इनमें दो जनों की कोरोना से मौत होना तथा दो के लक्षण कोरोना जैसे बताए गए।
एक मृतक के परिजनों ने जिला अस्पताल में बीमार का इलाज नहीं करने एवं उसकी जांच नहीं करने की लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा भी कर दिया।
जिले में 1178 मरीजों की जांच भेजी गई थी, जिनमें से अकेले दौसा ब्लॉक में ही 229 जनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। लालसोट में 51 बांदीकुई में 34 व सिकराय ब्लॉक में 53 जने कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इधर जिले में मई महीने के तीन दिन में 3 हजार 148 की रिपोर्ट आई है, जिनमें से 965 जने कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। अब जिलेभर में 7 हजार 668 मरीज कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। हालांकि इनमें से 5 हजार 35 जने रिकवर हो चुके हैं। जबकि कोरोना के 2 हजार 393 जने अभी एक्टिव हैं।

दो दिन पहले बड़े भाई की हुई थी मौत
रामगढ़ पचवारा के कंवरपुरा बूजैट्या ढाणी निवासी एक युवक की सोमवार को जिला अस्पताल की इमरजेंसी में मौत हो गई। मृतक के विद्युत निगम में कार्यरत चचेरे भाई की दो दिन पहले कोरोना से मौत हो गई थी। इतना होते हुए भी बाबूलाल को इमरजेंसी में भर्ती कर लिया और उसकी कोरोना की जांच नहीं की। परिजनों का आरोप है कि श्वांस लेने में तकलीफ होने के बाद भी उसके लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं की। बाद में उसकी मौत हो गई। इस पर परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगा कर हंगामा भी कर दिया। छारेड़ा के पूर्व सरपंच गंगा सहाय मीना ने बताया कि सही तरीके से जांच होकर इलाज कराने के लिए कई जगह गुहार की, लेकिन अस्पताल में कोई सुनवाई नहीं हुई और आखिर उसने दम तोड़ ही दिया।

ग्रामीण इलाकों में बेकाबू हुआ कोरोना
लालसोट. कोरोना संक्रमण ग्रामीण इलाकों में भी बेकाबू होने लगा है। मंडावरी क्षेत्र में कोरोना का कहर लगातार जारी है, वहीं दूसरी ओर रामगढ़ पचवारा क्षेत्र के कंवरपुरा गांव में कोरोना संक्रमण के चलते तीन दिनों मेंं एक ही परिवार के दो जनों की मौत हो चुकी है। सीएचसी प्रभारी डॉ. पवन जैन ने बताया कि कंवरपुरा गांव निवासी बाबूलाल की सोमवार को जिला चिकित्सालय में उपचार के दौरान मौत होने की जानकारी मिली है और इससे पूर्व शनिवार रात्रि को कंवरपुरा गंाव निवासी भरतलाल मीना की जिला चिकित्सालय में उपचार के दौरान मौत हो चुकी है।
इसी गांव का एक और निवासी जिला चिकित्सालय में कोरोना संक्रमण के चलते भर्ती है। ऐसे में कंवरपुरा में डॉ. मनीष शर्मा की अगुवाई में मेडिकल टीम भी पहुंची और दोनों मृतकों के परिजनों को मेडिकल किट भी दिए। टीम ने सोडियम हाइपो क्लोराइड का छिड़काव किया। प्रभारी ने बताया कि परिजनों के सैंपल मंगलवार को लिए जाएंगे।
वहीं ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. धीरज शर्मा ने बताया कि सोमवार को ब्लॉक में कोरोना के 54 मामले सामने आए हैं। इनमें 47 नए संक्रमित हंै। मंडावरी क्षेत्र में 22 संक्रमित मिले हैं। डिडवाना क्षेत्र में 11, लालसोट शहर 5, रामगढ़ पचवारा क्षेत्र 4, श्यामपुरा कलां क्षेत्र से 4 व सोनड़ और राहुवास क्षेत्र से एक-एक संक्रमित मिले हंै। कुल 136 जनों के सैंपल लिए है और कोविड केयर सेंटर में रविवार रात्रि व सोमवार को कुल पांच मरीजों को भर्ती किया गया है, एक संक्रमित को डिस्चार्ज किया गया। अब कोविड केयर सेंटर पर 11 संक्रमितों का उपचार जारी है।

Corona virus
Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned