बुजुर्गों व गंभीर बीमारी से पीडि़त लोगों का टीकाकरण शुरू

Covid Vaccination start of elderly and suffering people: पहले दिन 196 लोगों ने दिखाई रुचि

By: gaurav khandelwal

Published: 01 Mar 2021, 09:31 PM IST

दौसा. जिले में सोमवार से कोविन 2.0 के तहत टीकाकरण अभियान शुरू किया गया। इसके तहत 60 वर्ष से अधिक आयु वाले तथा 45 साल से अधिक आयु के गंभीर बीमारी से पीडि़तों के टीके लगाए गए। पहले दिन जिले में मात्र 196 लोगों ने टीकाकरण कराया। इनमें 138 पुरुष व 58 महिलाएं शामिल रहीं। वहीं हेल्थकेयर वर्कर्स के दूसरी डोज लगाने का काम भी जारी रहा। इसके तहत 205 जनों ने टीकाकरण कराया।

Covid Vaccination start of elderly and suffering people


गौरतलब है कि जिले में कोविड वैक्सीनेशन की शुरुआत में हेल्थ केयर वर्कर्स व फं्रट लाइन वर्कर्स के टीके लगाए गए, लेकिन इनकी लिस्ट लेकर पोर्टल पर डालना व सूचित कर बुलाने का काम चिकित्सा विभाग ने किया। अब कोविन 2.0 में वैक्सीनेशन कराने के लिए व्यक्ति को स्वयं पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदनकर्ता वैक्सीनेशन का स्थान व समय भी अपने हिसाब से उपलब्ध सूची में से कर सकेगा। जिले में सोमवार 18 केन्द्रों पर वैक्सीनेशन का इंतजाम कर 200-200 प्रति केन्द्र के अनुसार कुल 3600 टीकाकरण का लक्ष्य तय किया गया, लेकिन पहली डोज 196 व दूसरी डोज 205 सहित कुल 401 टीके लगाए गए। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. सुभाष बिलोनिया ने भी अपने माता-पिता का टीकाकरण कराकर लोगों को बेहिचक टीका लगवाने का संदेश दिया।


सीएमएचओ डॉ. मनीष चौधरी ने बताया कि मंगलवार को दूसरी डोज के बैकलॉग, 60 वर्ष से अधिक उम्र, छूटे हुए फ्रंटलाइन वर्कर्स तथा अपंजीकृत हेल्थ केयर वर्कर्स व फ्रंटलाइन वर्कर्स के कार्यालय के अधिकारी की उपस्थिति में टीकाकरण किया जाएगा। वहीं निजी अस्पताल को भी टीकाकरण के लिए अधिकृत किया जाएगा। हालांकि वहां सशुल्क टीकाकरण की सुविधा मिलेगी।

झोलाछाप कर रहे मरीजों के जीवन से खिलवाड़


मंडावरञ्चपत्रिका. तहसील मुख्यालय मंडावर सहित आसपास के क्षेत्रों में मरीजों के साथ स्वास्थ्य विभाग की उदासीनता के चलते झोलाछाप खिलवाड़ कर रहे हैं। झोलाछाप बेखौफ होकर बिना डिग्री के लोगों का इलाज कर मेडिकल नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं। वहीं कुछ तो अपनी दुकानों के बाहर 24 घण्टे सुविधा का बोर्ड लगाकर भोलेभाले मरीजों को अपने झांसे में फंसाकर उनसे मोटी फीस वसूलते हैं। वहीं कुछ झोलाछाप बिना किसी रजिस्ट्रेशन, अनुभव वाली डिग्री के ही अवैध क्लीनिक खोलकर इलाज के साथ प्रसव तक को अंजाम दे रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि इन झोलाछापों के खिलाफ इलाज में लापरवाही बरतने से हुई मरीजों को परेशानियों को लेकर व कई मरीजों के जीवन को खतरे में डालने को लेकर मंडावर तहसील में अब तक तकरीबन 3-4 परिवाद पुलिस थाने में पेश किए जा चुके हैं। फिर भी विभागीय अधिकारी आंखें मूदकर बैठे हुए हैं।


इस संबंध में राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मंडावर के चिकित्सा प्रभारी नरसीराम मीणा का कहना है कि पूर्व में भी झोलाछापों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। अब इन्होंने फिर से अपनी दुकानें खोल ली हैं तो उच्चाधिकारियों को सूचित कर कार्रवाई की जाएगी। मंडावर में केवल दो अस्पताल ही रजिस्ट्रेशन से संचालित हैं। इसके अलावा सामान्य व डेंटल हॉस्पिटल अवैध रूप से संचालित हैं।

Covid Vaccination start of elderly and suffering people

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned